Ranjeet Bhartiya 13/03/2019

अरवल भारत के बिहार राज्य में स्थित एक जिला है. बिहार के दक्षिणी भाग में आने वाला यह जिला मगध प्रमंडल के अंतर्गत आता है.अरवल जिला कब बना? कितने ब्लाक हैं? आईये जानते हैं अरवल जिले की पूरी जानकारी.

अरवल जिला कब बना

पहले ये जिला  जहानाबाद जिले का हिस्सा हुआ करता था. अगस्त 2001 में इसे जहानाबाद जिले से अलग करके स्वतंत्र जिला बनाया गया.

अरवल जिला की भौगोलिक स्थिति

बाउंड्री (चौहद्दी)

उत्तर में – पटना और भोजपुर जिला
दक्षिण में – गया और औरंगाबाद जिला
पूरब में- जहानाबाद जिला
पश्चिम में – भोजपुर और रोहतास जिला

क्षेत्रफल
इस जिले का भौगोलिक क्षेत्रफल 634.23 वर्ग किलोमीटर है.

प्रमुख नदियां : सोन नदी

अर्थव्यवस्था- कृषि ,उद्योग और उत्पाद

जिले में उद्योगों का अभाव है. उपजाऊ होने के कारण अरवल जिले की अर्थव्यवस्था मुख्यतः कृषि पर आधारित है.जिले में उगाए जाने वाले प्रमुख फसल हैं : धान, गेहूं, मक्का और दलहन.

अरवल जिला का प्रशासनिक सेटअप

अरवल जिले के DM कौन है?

प्रमंडल: मगध

प्रशासनिक सहूलियत के लिए इस जिले को 1 अनुमंडल और 5 प्रखंडों में बांटा गया है.

अनुमंडल: इस  जिले में केवल एक अनुमंडल है- अरवल.

प्रखंड: इस जिले के अंतर्गत कुल 5 प्रखंड हैं:
अरवल, कलेर , करपी , कुर्था और सोनभद्र बंशी सूर्यपुर.

पुलिस थानों की संख्या : 11

ग्राम पंचायतों की संख्या: 65
कुल गांवों की संख्या: 335

निर्वाचन क्षेत्र
संसदीय क्षेत्र : 1, अरवल, जहानाबाद लोक सभा निर्वाचन क्षेत्र का हिस्सा है.

विधानसभा
इस जिले के अंतर्गत 2 विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र आते हैं: अरवल और कुर्था.

अरवल जिला  की डेमोग्राफी (जनसांख्यिकी)

2011 की आधिकारिक जनगणना के अनुसार,
कुल जनसंख्या : 7.01 लाख
पुरुष : 3.63 लाख
महिला: 3.37 लाख

जनसंख्या वृद्धि (दशकीय): 18.89%
जनसंख्या घनत्व (प्रति वर्ग किलोमीटर): 1098
बिहार की जनसंख्या में अनुपात: 0.67%
लिंगानुपात (महिलाएं प्रति 1000 पुरुष) : 928

औसत साक्षरता: 67.43%
पुरुष साक्षरता : 79.06%
महिला साक्षरता: 54.85%

शहरी और ग्रामीण जनसंख्या
शहरी जनसंख्या : 7.40%
ग्रामीण जनसंख्या: 92.60%

धर्म

अधिकारीक जनगणना 2011 के अनुसार, ये जिला  एक हिंदू बहुसंख्यक जिला है. जिले में हिंदुओं की जनसंख्या 90.48% है, जबकि मुस्लिमों की आबादी 9.17% है.अन्य धर्मो की बात करें तो जिले में ईसाई 0.06%, सिख 0.01%, बौद्ध 0.05% और जैन 0.01% हैं.

अरवल जिले में  पर्यटन स्थल

मखदुम शाह का मजार

इस जिले में स्थित मखदुम शाह का मजार आस्था का केंद्र है. यह पवित्र स्थल जिला मुख्यालय से सटे सोन नदी के तट पर स्थित है. कहा जाता है कि इस स्थान पर मखदुम साहब 13वीं शताब्दी में आए थे और यहां डेरा डालकर रहने लगे थे. ऐसी मान्यता है कि इस मजार पर चादर पोशी करने से हर मुराद पूरी होती है.

फखरपुर मंदिर

फखरपुर मंदिर अरवल जिला मुख्यालय से लगभग 5-6 किलोमीटर की दूरी पर फखरपुर पंचायत में स्थित है.

गौतम बुद्ध का मंदिर

इस धार्मिक स्थल पर राष्ट्रीय राजमार्ग 98 से आ सकते हैं.

अगनुर जल विद्युत परियोजना

अगनुर जल विद्युत परियोजना जिले के कलेर ब्लॉक में स्थित है.

अरवल कैसे पहुंचे?

हवाई मार्ग
अरवल जिला का अपना हवाई अड्डा नहीं है.नजदीकी हवाई अड्डा: जयप्रकाश नारायण एयरपोर्ट (Code: PAT) जहानाबाद जिले से लगभग 65 किलोमीटर दूर पटना में स्थित है.

रेल मार्ग
नजदीकी रेलवे स्टेशन: जहानाबाद रेलवे स्टेशन (JHD).

सड़क मार्ग
अरवल जिला, राज्य और देश के प्रमुख नगरों से शहरों से सड़क मार्ग से अच्छे से जुड़ा हुआ है. अरवल नेशनल हाईवे 139 पर स्थित है.

आप चाहे तो अपने निजी वाहन कार या बाइक से भी यहां आ सकते हैं.

Leave a Reply