Ranjeet Bhartiya 20/10/2019

कानपुर नगर भारत के उत्तर प्रदेश राज्य में स्थित एक जिला है. उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ से लगभग 90 किलोमीटर पश्चिम में स्थित यह जिला कानपुर प्रमंडल के अंतर्गत आता है. कानपुर मंडल के अंतर्गत कुल 6 जिले आते हैं: कानपुर नगर, कानपुर देहात, औरैया, इटावा, कन्नौज और फर्रुखाबाद. कानपुर डिविजन उत्तर प्रदेश का सबसे साक्षर मंडल है. कानपुर शहर, कानपुर मंडल तथा  जिले का प्रशासनिक मुख्यालय है.

लेदर सिटी-भारत का मैनचेस्टर

कानपुर उत्तर प्रदेश का एक औद्योगिक शहर है. इसे उत्तर प्रदेश का औद्योगिक की राजधानी भी कहा जाता है. लेदर सिटी के नाम से मशहूर यह जिला चमड़ा और टेक्सटाइल उद्योग के लिए प्रसिद्ध है. इसे भारत का मैनचेस्टर भी कहा जाता है.

कानपुर नगर का संक्षिप्त इतिहास

जिले के नामकरण के बारे में मान्यता है कि इसे पहले “कन्हैयापुरि” या “कान्हपुर” के नाम से जाना जाता था जो कालांतर में अपभ्रंश के कारण कानपुर हो गया. स्थानीय परंपरा के अनुसार, इस शहर की स्थापना सचेंदी राज्य के राजा हिंदू सिंह ने किया था. सन 1750 के आसपास राजा हिंदू सिंह यहां पवित्र गंगा नदी में स्नान करने आए थे. उन्होंने एक गांव को स्थापित किया था जिसका नाम संभवत कान्हपुर था जो कालांतर में कानपुर में बदल गया.

कानपुर नगर जिला कब बना

एक स्वतंत्र जिले के रूप में अस्तित्व में आने से पहले कानपुर नगर भूतपूर्व कानपुर जिले का हिस्सा हुआ करता था. 9 जून 1976 को इसे भूतपूर्व कानपुर जिले से अलग करके एक स्वतंत्र जिला बनाया गया. इस तरह से भूतपूर्व कानपुर जिले का शेष हिस्सा कानपुर देहात जिले के रूप में अस्तित्व में आया. 12 जुलाई 1977 को इन दोनों जिलो को एकीकरण करके फिर से कानपुर जिला बनाया गया. 23 अप्रैल 1981 को कानपुर जिले को पुनः कानपुर नगर और कानपुर देहात जिलों में विभाजित कर दिया गया.

कानपुर नगर जिले की भौगोलिक स्थिति

बाउंड्री (चौहद्दी)
यह जिला कुल 6 जिलों से घिरा हुआ है.
उत्तर में-हरदोई जिला और कन्नौज जिला
दक्षिण में-फतेहपुर जिला और हमीरपुर जिला
पूरब में-उन्नाव जिला
पश्चिम में-कानपुर देहात जिला
समुद्र तल से ऊंचाई
कानपुर शहर समुद्र तल से लगभग 126 मीटर (413 फीट) की औसत ऊंचाई पर स्थित है.
क्षेत्रफल
इस जिले का भौगोलिक क्षेत्रफल 3155 वर्ग किलोमीटर है.

प्रमुख नदियां:

यह जिला गंगा नदी के तट पर स्थित है. पूर्व में पवित्र गंगा नदी जिले के प्राकृतिक सीमा का निर्माण करती है और इसे उन्नाव जिले से अलग करती है. पांडु नदी जिले के पश्चिमी और दक्षिणी सीमा का निर्माण करती है और इसे क्रमशः कानपुर देहात और फतेहपुर जिले से अलग करती है. जिले के प्रमुख नदियां हैं: गंगा, यमुना, रिंद और पांडु.

अर्थव्यवस्था-कृषि, उद्योग और उत्पाद

जिले की अर्थव्यवस्था कृषि, पशुपालन, मछली पालन, वन, उद्योग और व्यवसाय पर आधारित है.

कृषि

एक औद्योगिक शहर होने के बावजूद कानपुर नगर जिले की ग्रामीण अर्थव्यवस्था मुख्य रूप से कृषि पर निर्भर है. जिले में उगाए जाने वाले प्रमुख फसल हैं: मक्का, धान , बाजरा, दलहन (चना, उड़द और अरहर), गन्ना, आलू प्याज और अन्य सब्जियां

पशुपालन

ग्रामीण क्षेत्रों में पशुपालन जिले के लोगों के लिए आय का एक महत्वपूर्ण जरिया है. जिले के प्रमुख पशु धन हैं: गाय, भैंस, सूअर, बकरी और पोल्ट्री.
मछली पालन : जिले के नदियों और जलाशयों से मछली का उत्पादन किया जाता है.

वन

2011 के जनगणना के अनुसार जिले का 1.88% हिस्सा ही वन क्षेत्र है. जिले में पाए जाने वाले प्रमुख वन संपदा हैं: ढाक, बबूल, इमली, नीम, आम और शीशम

खनिज

यह जिला खनिज संपन्न नहीं है. जिले में पाए जाने वाले प्रमुख खनिज हैं: कंकर और मौरंग.

उद्योग

कानपुर नगर एक औद्योगिक जिला है. जिले में भारी पैमाने पर लघु, मझोले और बड़े औद्योगिक इकाइयां कार्यरत हैं. जिले में स्थित प्रमुख उद्योग हैं: टेक्सटाइल उद्योग, लेदर उद्योग, प्लास्टिक उद्योग, केमिकल उद्योग, फार्मास्यूटिकल उद्योग, उर्वरक उद्योग, फूड प्रोसेसिंग यूनिट, मोटर उद्योग, गन फैक्ट्री और कृषि आधारित उद्योग, तेल मिल इत्यादि.
व्यापार और वाणिज्य
जिले से निर्यात किए जाने वाले प्रमुख पदार्थ हैं: औद्योगिक और कृषि उत्पाद, ऊनी कपड़े, जूट, केमिकल, प्लास्टिक, स्टील, उर्वरक और इंजीनियरिंग गुड्स, हैंडीक्राफ्ट, कालीन, टोकरी, वाद्य यंत्र, आभूषण और चमड़े के सामान.जिले में आयात किए जाने वाले प्रमुख पदार्थ हैं: रोजमर्रा के उपयोग की वस्तुएं, नमक, औषधि, बर्तन, दाल, धन, गुड़ और सरसों का तेल.

प्रशासनिक सेटअप

प्रमंडल: कानपुर
प्रशासनिक सहूलियत के लिए कानपुर नगर जिले को 4 तहसीलों (अनुमंडल) और 10 विकासखंडो (प्रखंड/ ब्लॉक) में बांटा गया है.
तहसील (अनुमंडल):
इस जिले को कुल 4 तहसीलों में बांटा गया है:
बिल्हौर, कानपुर सदर, नरवल और घाटमपुर.
विकासखंड (प्रखंड):
कानपुर नगर जिले को कुल 10 विकासखंडों (प्रखंडों) में बांटा गया है.
बिल्हौर तहसील के अंतर्गत कुल 2 विकासखंड आते हैं: बिल्हौर और पतारा.
कानपुर सदर तहसील के अंतर्गत कुल 2 विकासखंड आते हैं: कल्याणपुर और विधनू.
नरवल तहसील के अंतर्गत 1 विकासखंड है: सरसौल
घाटमपुर तहसील के अंतर्गत कुल 5 विकासखंड आते हैं: घाटमपुर, ककवन, भीतरगांव, चौबेपुर और शिवराजपुर.
पुलिस थानों की संख्या: 42
शहरी क्षेत्रों की संख्या: 10
 जिले में नगर निगम की संख्या: 1
नगर पालिका परिषदों की संख्या: 2
नगर पंचायतों की संख्या: 2
छावनी बोर्ड की संख्या: 1
ग्राम पंचायतों की संख्या: 557
गांवों की संख्या: 1003

निर्वाचन क्षेत्र

लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र: 3
कानपुर नगर जिला तीन लोकसभा निर्वाचन क्षेत्रों का हिस्सा है: कानपुर, अकबरपुर और मिश्रिख (पार्ट).
विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र: 10
जिले के अंतर्गत कुल 10 विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र आते हैं: गोविंद नगर, सीसामऊ, आर्य नगर, किदवई नगर, कानपुर छावनी, बिल्हौर, बिठूर, कल्याणपुर, महाराजपुर और घाटमपुर.

कानपुर नगर जिले की डेमोग्राफीक्स (जनसांख्यिकी)

2011 के आधिकारिक जनगणना के अनुसार, इस जिले की जनसांख्यिकी इस प्रकार है-
कुल जनसंख्या: 45.81 लाख
पुरुष: 24.59 लाख
महिला: 21.21 लाख

जनसंख्या वृद्धि (दशकीय): 9.92%
जनसंख्या घनत्व (प्रति वर्ग किलोमीटर): 1452
उत्तर प्रदेश की जनसंख्या में अनुपात: 2.29%
लिंगानुपात (महिलाएं प्रति 1000 पुरुष): 862

औसत साक्षरता: 79.65%
पुरुष साक्षरता: 83.62%
महिला साक्षरता: 75.05 %

शहरी और ग्रामीण जनसंख्या
शहरी जनसंख्या: 65.83%
ग्रामीण जनसंख्या: 34.17%

धार्मिक जनसंख्या

2011 के आधिकारिक जनगणना के अनुसार, कानपुर नगर एक हिंदू बहुसंख्यक जिला है. जिले में हिंदुओं की जनसंख्या 82.78% है, जबकि मुस्लिमों की आबादी 15.73% है.अन्य धर्मों की बात करें तो जिले में ईसाई 0.34%, सिख 0.65%, बौद्ध 0.06%, जैन 0.12% और अन्य 0.01% हैं.

भाषाएं

जिले में बोली जाने वाली प्रमुख भाषाएं हैं: हिंदी, अंग्रेजी, उर्दू और अवधी.

कानपुर में घूमने की जगह

झांसी जिले में पौराणिक, धार्मिक, पुरातात्विक और ऐतिहासिक दृष्टि से महत्वपूर्ण कई दर्शनीय स्थल हैं. जिले में स्थित प्रमुख दर्शनीय स्थलों के बारे में संक्षिप्त विवरण:

भीतरगांव मंदिर

पुरातात्विक दृष्टि से महत्वपूर्ण यह प्राचीन मंदिर अवशेष कानपुर से लगभग 50 किलोमीटर दूरी पर घाटमपुर तहसील के भीतरगांव में स्थित है. पक्की ईंटों से निर्मित यह मंदिर गुप्त कालीन (छठी सदी) वास्तुकला का उत्कृष्ट नमूना है.

राधा कृष्ण मंदिर (जेके मंदिर)

राधा कृष्ण को समर्पित यह खूबसूरत मंदिर जिले के सर्वोदय नगर में स्थित है.

कानपुर मेमोरियल चर्च

1875 में निर्मित यह प्रसिद्ध चर्च जिले के अल्बर्ट लेन कानपुर छावनी में स्थित है.

नाना राव पार्क/ कंपनी बाग

शहर के मध्य में फूलबाग चौराहा (मॉल रोड) पर स्थित यह खूबसूरत पार्क कानपुर शहर का सबसे बड़ा पार्क है. अंग्रेजों के शासन काल में इसका नाम वेल गार्डन था. आजादी के पश्चात, स्वतंत्रता की पहली लड़ाई के नायक नाना राव पेशवा के सम्मान में इस पार्क का नाम बदलकर नाना राव पार्क कर दिया गया.

ग्रीन पार्क स्टेडियम

अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट मैच और आईपीएल क्रिकेट की मेजबानी करने वाला यह प्रसिद्ध स्टेडियम कानपुर शहर के उत्तर-पूर्वी भाग में सिविल लाइन क्षेत्र में स्थित है. इस बहुउद्देशीय स्टेडियम की दर्शक क्षमता 32000 है.

जगन्नाथ मंदिर, बेहटा/ बेहटा बुजुर्ग मंदिर

भगवान जगन्नाथ को समर्पित यह प्राचीन रहस्यमय मंदिर कानपुर शहर से लगभग 50 किलोमीटर दूरी पर भीतरगांव ब्लॉक के बेहटा गांव में स्थित है.

कानपुर प्राणी उद्यान/एलेन फॉरेस्ट जू

लगभग 190 एकड़ (77 हेक्टेयर) क्षेत्र में फैला यह प्राणी उद्यान शहर के केंद्र से 7 किलोमीटर दूरी पर स्थित है. यहां आप विभिन्न प्रकार के जीव जंतुओं और दुर्लभ वनस्पतियों को देख सकते हैं.
यहां पाए जाने वाले प्रमुख जानवर हैं: गैंडा, भालू, लकड़बग्घा, लंगूर, वनमानुष, चिंपैंजी, जेब्रा, बंदर हिप्पोपोटामस, हिरन, शुतुरमुर्ग और सारस.

जैन ग्लास मंदिर

जैन धर्म के 24 तीर्थंकरों स्मृति में बनवाया गया यह प्रसिद्ध मंदिर जैन मंदिर पर्यटकों के लिए एक मुख्य आकर्षण है.

कानपुर पुरातत्व संग्रहाल

जिले के फूलबाग में कानपुर-लखनऊ रोड क्रॉसिंग मॉल रोड पर स्थित यह संग्रहालय इतिहास में रुचि रखने वालों के लिए एक लोकप्रिय पर्यटन स्थल है.

कानपुर नगर कैसे पहुंचे?

हवाई मार्ग

कानपुर हवाई मार्ग से देश की राजधानी दिल्ली तथा देश के विभिन्न हिस्सों से अच्छे से जुड़ा हुआ है. यहां के लिए डायरेक्ट हवाई सेवा उपलब्ध हैं. निकटतम हवाई अड्डा: कानपुर एयरपोर्ट (Code: KNU). यह हवाई अड्डा कानपुर नगर से लगभग 17 किलोमीटर की दूरी पर चकेरी में स्थित है.

रेल मार्ग

कानपुर नगर जिला रेल मार्ग से उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ तथा देश के विभिन्न हिस्सों से अच्छे से जुड़ा हुआ है. निकटतम रेलवे स्टेशन: कानपुर सेंट्रल रेलवे स्टेशन (Code: CNB), पनकी रेलवे स्टेशन (Code: PNK), कानपुर अनवरगंज रेलवे स्टेशन (Code: CPA) और कल्याणपुर रेलवे स्टेशन (Code: KAP).

सड़क मार्ग

कानपुर नगर जिला सड़क मार्ग से उत्तर प्रदेश और देश के प्रमुख शहरों से अच्छे से जुड़ा हुआ है. यहां के लिए नियमित बस सेवाएं उपलब्ध है. आप यहां अपने निजी वाहन कार या बाइक से भी आ सकते हैं.  नेशनल हाईवे 2 (NH 2), नेशनल हाईवे 25 (NH 25) ,नेशनल हाईवे 86 (NH 86) और नेशनल हाईवे 91 (NH 91) जिले से होकर गुजरती है.

कानपुर नगर जिले की कुछ रोचक बातें:

2011 के जनगणना के अनुसार,
1. जनसंख्या की दृष्टि से उत्तर प्रदेश में छठा स्थान है.
2. लिंगानुपात के मामले में उत्तर प्रदेश में 68वां स्थान है.
3. साक्षरता के मामले में उत्तर प्रदेश में दूसरा स्थान है.
4. सबसे ज्यादा बसे गांव वाला तहसील: बिल्हौर (352).
5. सबसे कम बसे गांव वाला तहसील: कानपुर (252)
6. जिले में कुल निर्जन गांवों की संख्या: 101.

Daily Recommended Product: ( Today) Mi Power Bank 3i 10000mAh (Metallic Blue) Dual Output and Input Port | 18W Fast Charging

Leave a Reply