Pinki Bharti 08/03/2020

कोरोना वायरस के कारण दुनिया भर में कोहराम मचा हुआ है. इस वायरस ने लोगों के मन में इतना खौफ पैदा कर दिया है कि लोग घर से बाहर निकलने, ऑफिस जाने, बच्चों को स्कूल भेजने और किसी सामाजिक कार्यक्रम जैसे बर्थडे पार्टी, शादी-विवाह आदि में जाने से भी कतराने लगे हैं. विश्व स्वास्थ्य संगठन और स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा लगातार कोरोना वायरस से संबंधित नवीनतम अपडेट और बचने के गाइडलाइन जारी किए जा रहे हैं. कोरोना वायरस से बचने के लिए अल्कोहल बेस्ड सैनिटाइजर और मास्क लगाने की सलाह दी जा रही.आइए जाने कब और कौन सा मास्क प्रयोग करें?

मास्क कितना प्रभावकारी?

दुनिया भर में हैंड सेनीटाइजर और मास्क की मांग बढ़ गई है. कई जगह लोग मास्क के शॉर्टेज का सामना भी कर रहे हैं . हालांकि केवल मास्क पहन लेने से कोरोना वायरस से नहीं बचा जा सकता है. साथ ही अगर गलत तरीके से मास्क पहना गया तो कोरोना संक्रमण का खतरा और बढ़ जाता है.

मास्क की सबसे ज्यादा जरूरत किन्हे हैं?

सबसे पहली बात अगर आप स्वस्थ हैं तो आपको मास्क की जरूरत नहीं है. मास्क की सबसे ज्यादा जरूरत उन स्वास्थ्य कर्मियों को है जो कोरोना वायरस से संक्रमित संदिग्धों या कोरोना वायरस से पीड़ित रोगियों का देखभाल कर रहे हैं.

मास्क का उपयोग कब करना चाहिए?

अगर आपको सर्दी, जुकाम, छींक और खांसी आ रही तो मास्क का प्रयोग जरूर करें. यहां एक बात बता देना जरूरी है कि केवल मास्क पहन लेने से आप कोरोना से नहीं बच सकते. मास्क पहनने के साथ-साथ आप हाथों की स्वच्छता पर जरूर ध्यान दें. हाथों को साबुन और पानी या फिर अल्कोहल आधारित हैंड रब से बार-बार धोते रहें.

मास्क को कैसे पहने, उतारें और डिस्पोज करें?

मास्क का प्रयोग करने से पहले अपने हाथों को साबुन और पानी या फिर अल्कोहल बेस्ड हैंड रब से अच्छी तरह से साफ कर लें. अपने मुंह और नाक को मास्क से अच्छी तरह ढक लें. इस बात को सुनिश्चित कर लें कि आपके चेहरे और मास्क के बीच किसी प्रकार का गैप नहीं रहे. प्रयोग करने के दौरान मास्क को छूने से बचें. अगर आपको मास्क फिर से एडजस्ट करना हो तो पहले हाथ को साबुन और पानी या अल्कोहल आधारित हैंड रब से अच्छी तरह से धो लें.

ऐसे निकालें मास्क

अगर आपका मास्क गंदा हो जाता है तो उसे सावधानीपूर्वक पीछे से पकड़ के हटा दें और दूसरा मास्क का प्रयोग करें. सिंगल यूजर मास्क का दोबारा प्रयोग ना करें.मास्क हटाने के लिए इसे फीते से पकड़े ना कि सामने से पकड़कर उतारें. इस्तेमाल करने के पश्चात मास्क को अच्छी तरह से डिस्पोज करके फिर हाथों को साबुन और पानी या फिर अल्कोहल आधारित एंड रब से साफ कर लें.

कौन सा मास्क प्रयोग करें?

कोरोना वायरस से बचने के लिए लोग धड़ल्ले से मास्क खरीद रहे हैं. लेकिन यहां यह बताना जरूरी है कि सभी मास्क समान रूप से कोरोना से बचाव करने के लिए प्रभावशाली नहीं हैं. आइए जाने कौन सा मास्क कोरोना वायरस के लिए सबसे ज्यादा प्रभावशाली है? बाजार में आपको मुख्यतः दो तरह के मास्क मिलेंगे: सर्जिकल मास्क और N95 रेस्पिरेटर मास्क (SanNap N95 Pollution/Surgical Elastic Mask Surgical Face Mask with Earloop Great for Air Pollution Virus (1))

सर्जिकल मास्क

सर्जिकल मास्क डॉक्टर, नर्स और स्वास्थ्य कर्मी रोगियों के देखभाल के के दौरान पहनते हैं. यह मास्क हवा में मौजूद बड़े कणों को फिल्टर कर सकता है. 3 से 8 घंटे तक पहने जाने वाले ये मास्क बैक्टीरियल संक्रमण से तो बचा सकते हैं लेकिन वायरल संक्रमण से बचाने में कारगर नहीं है. मतलब ये सर्जिकल मास्क आपको कोरोना वायरस संक्रमण से नहीं बचा सकते.

N95 रेस्पिरेटर मास्क

रेस्पिरेटर मास्क सर्जिकल मास्क से ज्यादा कारगर होते हैं. ये आपको बैक्टीरियल और वायरल इन्फेक्शन से बचाते हैं.
कोरोना वायरस का साइज 0.2 माइक्रोन से लेकर 0.5 माइक्रोन तक हो सकता है. N95 रेस्पिरेटर मास्क 0.3 माइक्रोन तक के हवा में मौजूद कणों को फिल्टर करके आपको करोना से बचा सकता है. इसका मतलब यह हुआ कि कोरोना वायरस से बचाव के लिए N95 रेस्पिरेटर मास्क सबसे ज्यादा कारगर है.

Leave a Reply