Ranjeet Bhartiya 08/05/2019

खूंटी भारत के झारखंड राज्य में स्थित एक जिला है. झारखंड के दक्षिणी भाग में स्थित यह जिला दक्षिणी छोटानागपुर प्रमंडल के अंतर्गत आता है. खूंटी शहर जिले का प्रशासनिक मुख्यालय है. खूंटी जिला को महान स्वतंत्रता सेनानी बिरसा मुंडा के जन्म स्थली होने का गौरव प्राप्त है. जिले की जनसंख्या कितनी है? कितने ब्लॉक हैं? आइए जानते हैं खूंटी जिले की पूरी जानकारी

खूंटी जिला कब बना

एक स्वतंत्र जिला के रूप में अस्तित्व में आने से पहले ये जिला  रांची जिले का एक अनुमंडल हुआ करता था. 12 सितंबर 2007 को इसे रांची जिले से अलग कर के एक स्वतंत्र जिला बनाया गया. इस तरह खूंटी झारखंड के 23वें जिले के रूप में अस्तित्व में आया.

खूंटी जिले की भौगोलिक स्थिति

बाउंड्री (चौहद्दी)

उत्तर में – रांची जिला

दक्षिण में – पश्चिमी सिंहभूम जिला और सिमडेगा जिला

पूरब में- रांची जिला और सरायकेला-खरसावां जिला

पश्चिम में – रांची जिला और गुमला जिला

समुद्र तल से ऊंचाई :

खूंटी जिला समुद्र तल से लगभग 500-700 मीटर की औसत ऊंचाई पर स्थित है.

क्षेत्रफल

इस जिले का भौगोलिक क्षेत्रफल 2535 वर्ग किलोमीटर है.

प्रमुख नदियां : खड़कई, तजना , बनई, कारो और दक्षिणी कोयल.

अर्थव्यवस्था- कृषि, उद्योग और उत्पाद

इस जिले की अर्थव्यवस्था कृषि, वन और खनिज, आधारित है.

कृषि

जिले की अर्थव्यवस्था मुख्य रूप से कृषि पर आधारित है. जिले में उगाए जाने वाले प्रमुख फसल हैं: धान, गेहूं, मक्का, दलहन, तिलहन और सब्जियां.

वन

इस जिले का एक बड़ा भूभाग जंगलों से आच्छादित है. खूंटी जिले में पाए जाने वाले प्रमुख वन उत्पाद हैं: साल, महुआ, जामुन, पलाश, कुसुम और बांस.

खनिज

खूंटी जिला में पाए जाने वाले प्रमुख खनिज हैं: पत्थर और ब्रिक क्ले.

उद्योग

ये जिला लाह के उत्पादन के लिए प्रसिद्ध है.

प्रशासनिक सेटअप

प्रमंडल: दक्षिणी छोटानागपुर

प्रशासनिक सहूलियत के लिए इस जिले को 1 अनुमंडलों और 6 प्रखंडों में बांटा गया है.

अनुमंडल:

इस जिले के अंतर्गत केवल एक अनुमंडल आता है- खूंटी.

प्रखंड

 जिले को कुल 6 प्रखंडों में बांटा गया है: खूंटी, कर्रा, अडकी, मुरहू, तोरपा और रनिया.

पुलिस थानों की संख्या : 6

शहरी निकायों की संख्या : 1, खूंटी

ग्राम पंचायतों की संख्या: 86

कुल गांवों की संख्या: 768

निर्वाचन क्षेत्र

लोक सभा : 1, खूंटी लोक सभा निर्वाचन क्षेत्र

विधानसभा

इस जिले के अंतर्गत कुल 2 विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र आते हैं: खूंटी और तोरपा.

खूंटी जिले की डेमोग्राफीक्स (जनसांख्यिकी)

2011 के आधिकारिक जनगणना के अनुसार इस जिले की जनसांख्यिकी इस प्रकार है-

कुल जनसंख्या : 5.32 लाख

पुरुष : 2.66 लाख

महिला: 2.65 लाख

जनसंख्या वृद्धि (दशकीय): 22.32%

जनसंख्या घनत्व (प्रति वर्ग किलोमीटर): 210

झारखंड की जनसंख्या में अनुपात: 1.61%

लिंगानुपात (महिलाएं प्रति 1000 पुरुष) : 997

औसत साक्षरता: 63.86%

पुरुष साक्षरता : 74.08%

महिला साक्षरता: 53.69%

शहरी और ग्रामीण जनसंख्या

शहरी जनसंख्या : 8.46%

ग्रामीण जनसंख्या: 91.54%

धर्म

2011 के आधिकारिक जनगणना के अनुसार, इस जिले में हिंदुओं की जनसंख्या 26.11% है, जबकि ईसाई 25.65% है. अन्य धर्मों की बात करें तो जिले में मुस्लिम 2.47%, सिख 0.01%, बौद्ध 0.05% हैं, जैन 0.03% जबकि अन्य 45.37% हैं.

भाषाएं

जिले में बोली जाने वाली मुख्य भाषाएं हैं: हिंदी, मुंडारी, हो नागपुरी और उड़िया.

खूंटी जिला आकर्षक स्थल

अंगराबारी शिव मंदिर

जिला मुख्यालय से लगभग 9 किलोमीटर दूरी पर स्थित यह प्रसिद्ध शिव मंदिर खूंटी जिले का एक धार्मिक केंद्र है. महाशिवरात्रि तथा सावन के महीने में यहां दूर-दूर से श्रद्धालु भगवान शिव की पूजा अर्चना करने आते हैं.

पंचघाघ जलप्रपात

प्राकृतिक सुंदरता से परिपूर्ण यह सुंदर जलप्रपात  जिला मुख्यालय से लगभग 8 किलोमीटर की दूरी पर चाईबासा रोड पर स्थित है. यहां आप अपने दोस्तों और परिवार के साथ पिकनिक मनाने जा सकते हैं.

डोम्बारी बरू

ऐतिहासिक स्थल  अड़की प्रखंड में स्थित है. 1899 में जलियांवाला कांड के तर्ज पर अंग्रेजों ने स्वतंत्रता सेनानियों की आवाज को दबाने के लिए यहां पर निर्दोष लोगों को चारों तरफ से घेर कर गोलियों से भून दिया था, जिनमें सैकड़ों शहीद हो गए थे.

उलिहातु

जिले में स्थित उलिहातु महान स्वतंत्रता सेनानी बिरसा मुंडा की जन्म स्थली है. 15 नवंबर 1975 को यहीं पर बिरसा मुंडा का जन्म हुआ था. यह ऐतिहासिक स्थल खूंटी जिला मुख्यालय से लगभग 40 किलोमीटर की दूरी पर मुरहू प्रखंड में स्थित है.

बिरसा मृग विहार

यह सुंदर मृग विहार झारखंड की राजधानी रांची से लगभग 11 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है.

पेरवाघाघ जलप्रपात

यह सुंदर जलप्रपात खूंटी जिला मुख्यालय से लगभग 42 किलोमीटर की दूरी पर तोरपा प्रखंड में स्थित है.

रानी जलप्रपात

तजना नदी पर स्थित यह सुंदर जलप्रपात खूंटी जिला मुख्यालय से लगभग 15 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है.

खूंटी जिले में कैसे पहुंचे?

हवाई मार्ग

इस जिले का अपना हवाई अड्डा नहीं है. यहां के लिए डायरेक्ट हवाई सेवा उपलब्ध नहीं है.

निकटतम हवाई अड्डा : बिरसा मुंडा एयरपोर्ट, रांची (Code: IXR) .

यह हवाई अड्डा जिला मुख्यालय  से लगभग 33 किलोमीटर की दूरी पर झारखंड की राजधानी रांची में स्थित है.

रेल मार्ग

खूंटी जिले का अपना रेलवे स्टेशन नहीं है.

निकटतम रेलवे स्टेशन : हटिया रेलवे स्टेशन ( Code: HTE). यह रेलवे स्टेशन झारखंड की राजधानी रांची में स्थित है.

सड़क मार्ग

ये जिला  सड़क मार्ग से झारखंड राज्य और देश के प्रमुख शहरों से अच्छे से जुड़ा हुआ है. आप यहां अपने निजी वाहन कार या बाइक से भी आ सकते हैं.

खूंटी जिले के बारे में कुछ रोचक बातें:

1. जनसंख्या की दृष्टि से  झारखंड का 23वां बड़ा जिला है.

2. क्षेत्रफल की दृष्टि से  झारखंड का 16वां बड़ा जिला है.

3. जनसंख्या घनत्व के मामले में  झारखंड में 20वां स्थान है.

4. लैंगिक अनुपात के मामले में झारखंड में दूसरा स्थान है.

5. तोरपा प्रखंड के अंतर्गत आने वाला गांव सुंदरी खूंटी जिले का सबसे बड़ी आबादी वाला गांव है.

6. सबसे ज्यादा गांव वाला प्रखंड: कर्रा (178)

7. सबसे कम गांव वाला प्रखंड : रानियां (67)

8. क्षेत्रफल की दृष्टि से जिले का सबसे बड़ा गांव:

खूंटी प्रखंड के अंतर्गत आने वाला गांव सिरूम (क्षेत्रफल -लगभग 2290.94 हेक्टेयर).

9. क्षेत्रफल की दृष्टि से जिले का सबसे छोटा गांव:

खूंटी प्रखंड के अंतर्गत आने वाला गांव बिरजू मिशन स्कूल (क्षेत्रफल- 11.90 हेक्टेयर).

Leave a Reply