Ranjeet Bhartiya 22/12/2019

फर्रुखाबाद भारत के उत्तर प्रदेश राज्य में स्थित एक जिला है. यह जिला कानपुर प्रमंडल के उत्तर-पश्चिम में स्थित है. फतेहगढ़ जिले का प्रशासनिक मुख्यालय है. फर्रुखाबाद जिला पौराणिक दृष्टि से महत्वपूर्ण प्राचीन धार्मिक स्थलों और प्राचीन मंदिरों लिए प्रसिद्ध है. इसी जिले में पांडवों की पत्नी द्रौपदी का जन्म हुआ था। यह जिला आलू और सूर्यमुखी की खेती के लिए भी मशहूर है. जिले में कितने गांव है? कितनी जनसंख्या है? आईये जानते हैं फर्रुखाबादजिले की पूरी जानकारी.

नामकरण और संक्षिप्त इतिहास

फर्रुखाबाद शहर की स्थापना नवाब मोहम्मद खान बंगश ने 1714 में किया था. शहर का नाम तत्कालीन मुगल बादशाह फर्रूखसियर के नाम पर फर्रुखाबाद रखा गया. मुगल बादशाह फारूकसियर ने 1713 से 1719 तक भारत पर राज किया था.

फर्रुखाबाद जिले की भौगोलिक स्थिति

बाउंड्री (चौहद्दी)
फर्रुखाबाद जिला कुल 7 जिलों से घिरा हुआ है.
उत्तर में-बदायूं जिला और शाहजहांपुर जिला
दक्षिण में-कन्नौज जिला
पूरब में-हरदोई जिला
पश्चिम में-कासगंज जिला, एटा जिला और मैनपुरी जिला

समुद्र तल से ऊंचाई

फर्रुखाबाद जिला समुद्र तल से 145.69-167 मीटर की औसत ऊंचाई पर स्थित है. मोहम्मदाबाद (167 मीटर) जिले का सबसे ऊंचा स्थान है जबकि फर्रुखाबाद तहसील में स्थित मऊ रसूलपुर (145.69 मीटर) जिले का सबसे ऊंचा स्थान है.

क्षेत्रफल
फर्रुखाबाद जिले का भौगोलिक क्षेत्रफल 2181 वर्ग किलोमीटर है.

प्रमुख नदियां:
गंगा और रामगंगा जिले के पूर्व में बहती है जबकि काली नदी जिले के दक्षिण में बहती है.
जिले के प्रमुख नदियां हैं: गंगा, रामगंगा, काली, ईसन, बूढ़ी गंगा, पांडु और अरिंद.

अर्थव्यवस्था-कृषि, उद्योग और उत्पाद

फर्रुखाबाद जिले की अर्थव्यवस्था कृषि, पशुपालन, मछली पालन, वन, उद्योग और व्यवसाय पर आधारित है.

कृषि
फर्रुखाबाद जिले की अर्थव्यवस्था मुख्य रूप से कृषि पर आधारित है. जिले में उगाए जाने वाले प्रमुख फसल हैं:
धान, गेहूं, ज्वार, बाजरा, दलहन (चना, मटर, अरहर, मसूर, उड़द और मूंग), मसाले, सूर्यमुखी, तंबाकू, आलू और सब्जियां

पशुपालन
ग्रामीण क्षेत्रों में पशुपालन जिले के लोगों के लिए आय का एक महत्वपूर्ण जरिया है. जिले के प्रमुख पशु धन हैं: गाय,भैंस, सूअर, बकरी और पोल्ट्री.

मछली पालन
जिले के नदियों, नहरों, तालाबों और जलाशयों से मछली का उत्पादन किया जाता है.

वन
जिले में पाए जाने वाले प्रमुख वन संपदा हैं: ढाक, शीशम, बबूल, जामुन, सागौन और अर्जुन.

खनिज
यह जिला खनिज संपन्न नहीं है. जिले में पाए जाने वाले प्रमुख खनिज हैं: कंकड़, बालू और ब्रिक अर्थ.

उद्योग
औद्योगिकरण की दृष्टि से फर्रुखाबाद एक पिछड़ा जिला है. जिले में स्थित प्रमुख उद्योग हैं: बीड़ी उद्योग (कायमगंज), जरी-जरदोजी उद्योग, टेक्सटाइल उद्योग.

व्यापार और वाणिज्य

जिले के प्रमुख व्यापार केंद्र हैं: फर्रुखाबाद, कायमगंज, मोहम्मदाबाद, फतेहगढ़ और शमशाबाद. जिले से निर्यात किए जाने वाले प्रमुख पदार्थ हैं: रेडीमेड कपड़े, अनाज, कपास, चीनी, गुड़, घी, खाद्य तेल, तंबाकू, आलू और मसाले. जिले में बड़े पैमाने पर जरी-जरदोजी द्वारा विभिन्न प्रकार के टेबल मैट, साड़ी, ब्लाउज, दुपट्टा, सलवार और कुर्ता का निर्माण किया जाता है. इन उत्पादों को इंग्लैंड, अमेरिका, जापान, सऊदी अरब आदि देशों में निर्यात किया जाता है. जिले में आयात किए जाने वाले प्रमुख पदार्थ हैं: रोजमर्रा के सामान, दवाई, पेट्रोलियम, उर्वरक, फर्नीचर, मशीनरी और कृषि उपकरण.

प्रशासनिक सेटअप

प्रमंडल: कानपुर
प्रशासनिक सहूलियत के लिए फर्रुखाबाद जिले को 3 तहसीलों (अनुमंडल) और 7 विकासखंडो (प्रखंड/ ब्लॉक) में बांटा गया है.

तहसील (अनुमंडल):
फर्रुखाबाद जिले को कुल 3 तहसीलों में बांटा गया है:
कायमगंज, अमृतपुर और फर्रुखाबाद.

विकासखंड (प्रखंड):
फर्रुखाबाद जिले को कुल 7 विकासखंडों (प्रखंडों) में बांटा गया है: कायमगंज, शमशाबाद, राजेपुर, कमालगंज, बढ़पुर, मोहम्मदाबाद और नवाबगंज.

पुलिस थानों की संख्या: 14
छावनी बोर्ड की संख्या: 1
नगर पालिका परिषद की संख्या: 2
नगर पंचायतों की संख्या: 4
ग्राम पंचायतों की संख्या: 600
गांवों की संख्या: 872

निर्वाचन क्षेत्र
लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र: 1, फर्रुखाबाद.

विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र: 4
फर्रुखाबाद जिले जिले के अंतर्गत कुल 4 विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र आते हैं: कायमगंज, अमृतपुर, फर्रुखाबाद और भोजपुर.

फर्रुखाबाद जिले की डेमोग्राफीक्स (जनसांख्यिकी)

2011 के आधिकारिक जनगणना के अनुसार, फर्रुखाबाद जिले की जनसांख्यिकी इस प्रकार है-
कुल जनसंख्या: 18.85 लाख
पुरुष: 10.06 लाख
महिला: 8.78 लाख

जनसंख्या वृद्धि (दशकीय): 20.05%
जनसंख्या घनत्व (प्रति वर्ग किलोमीटर): 864
उत्तर प्रदेश की जनसंख्या में अनुपात: 0.94%
लिंगानुपात (महिलाएं प्रति 1000 पुरुष): 874

औसत साक्षरता: 69.04%
पुरुष साक्षरता: 77.40%
महिला साक्षरता: 59.44%

शहरी और ग्रामीण जनसंख्या
शहरी जनसंख्या: 22.08%
ग्रामीण जनसंख्या: 77.92%

धार्मिक जनसंख्या

2011 के आधिकारिक जनगणना के अनुसार, फर्रुखाबाद एक हिंदू बहुसंख्यक जिला है. जिले में हिंदुओं की जनसंख्या 84.67% है, जबकि मुस्लिमों की आबादी 14.69% है. अन्य धर्मों की बात करें तो जिले में ईसाई 0.17%, सिख 0.17%, बौद्ध 0.17%, जैन 0.03% और अन्य 0.01% हैं.

भाषाएं
जिले में बोली जाने वाली प्रमुख भाषाएं हैं: हिंदी और उर्दू.

फर्रुखाबाद में क्या प्रसिद्ध है?

इस जिले में पौराणिक, धार्मिक, पुरातात्विक और ऐतिहासिक दृष्टि से महत्वपूर्ण कई दर्शनीय स्थल हैं. जिले में स्थित प्रमुख दर्शनीय स्थलों के बारे में संक्षिप्त विवरण:

कंपिल

द्रौपदी का स्वयंवर
द्रौपदी का स्वयंवर

फतेहपुर से लगभग 45 किलोमीटर उत्तर-पश्चिम में कायमगंज तहसील में स्थित इस स्थान का पौराणिक महत्व है. यह स्थान हिंदू और जैन धर्मावलंबियों के लिए एक पवित्र तीर्थ स्थल है. इस स्थान का उल्लेख यजुर्वेद, रामायण तथा महाभारत में किया गया है. ऐसी मान्यता है कि यह नगर महाभारत काल में पांचाल राज्य की राजधानी थी. इसी स्थान पर पांचाल नरेश द्रुपद की पुत्री द्रौपदी का स्वयंवर हुआ था. जैन मान्यताओं के अनुसार, जैन धर्म के पहले तीर्थंकर श्री ऋषभदेव ने इस नगर को बसाया था और अपना पहला उपदेश यही दिया था. जैन धर्म के 13वें तीर्थंकर विमलनाथ जी का जन्म यहीं हुआ था और उन्होंने अपना पूरा जीवन यही बिताया था. वर्तमान में यहां दो प्रसिद्ध जैन मंदिर स्थित हैं जो जैन धर्मावलंबियों के लिए आस्था के केंद्र हैं

संकिसा

फतेहगढ़ से लगभग 38 किलोमीटर दक्षिण-पश्चिम शमशाबाद में स्थित यह स्थान बौद्ध धर्मावलंबियों के लिए एक पवित्र तीर्थस्थल है. ऐसी मान्यता है कि भगवान बुद्ध स्वर्ग से प्रकट होकर यहां पर 3 महीने तक रहे थे और उपदेश दिया था. यहां आप अभी भी प्राचीन बौद्ध अवशेषों को देख सकते हैं.

रामेश्वर नाथ मंदिर

भगवान शिव को समर्पित यह प्राचीन मंदिर जिले के कंपिल में स्थित है. पौराणिक मान्यताओं के अनुसार, इस मंदिर में मौजूद शिवलिंग की स्थापना भगवान श्री राम के छोटे भाई शत्रुघ्न ने किया था.

फर्रुखाबाद कैसे पहुंचे?

हवाई मार्ग
फर्रुखाबाद जिले का अपना हवाई अड्डा नहीं है. यहां के लिए डायरेक्ट हवाई सेवाएं उपलब्ध नहीं है.
निकटतम हवाई अड्डा: कानपुर एयरपोर्ट (Code: KNU).
यह हवाई अड्डा फर्रुखाबाद से लगभग 175 किलोमीटर की दूरी पर कानपुर के चकेरी में स्थित है. दूसरा नजदीकी हवाई अड्डा: चौधरी चरण सिंह इंटरनेशनल एयरपोर्ट, लखनऊ (Code: LKO).
यह हवाई अड्डा फर्रुखाबाद से लगभग 184 किलोमीटर दूरी पर लखनऊ में स्थित है.

रेल मार्ग

फर्रुखाबाद जिला रेल मार्ग से उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ तथा देश के विभिन्न हिस्सों से अच्छे से जुड़ा हुआ है.
निकटतम रेलवे स्टेशन: फर्रुखाबाद जंक्शन रेलवे स्टेशन (Code: FBD) और फतेहगढ़ रेलवे स्टेशन (Code: FGR).

सड़क मार्ग

फर्रुखाबाद जिला सड़क मार्ग से उत्तर प्रदेश और देश के प्रमुख शहरों से अच्छे से जुड़ा हुआ है. यहां के लिए नियमित बस सेवाएं उपलब्ध है. आप यहां अपने निजी वाहन कार या बाइक से भी आ सकते हैं. स्टेट हाईवे (SH 29), स्टेट हाईवे 29A (SH 29A) और स्टेट हाईवे 43 (SH 43) जिले से होकर गुजरती है.

फर्रुखाबाद जिले की कुछ रोचक बातें:

2011 के जनगणना के अनुसार,
1. जनसंख्या की दृष्टि से उत्तर प्रदेश में 49वां स्थान है.
2. लिंगानुपात के मामले में  उत्तर प्रदेश में 55वां स्थान है.
3. साक्षरता के मामले में का उत्तर प्रदेश में 34वां स्थान है.
4. सबसे ज्यादा बसे गांव वाला तहसील: कायमगंज (382).
5. सबसे कम बसे गांव वाला तहसील: अमृतपुर (136).
6. जिले में कुल निर्जन गांवों की संख्या: 133.

Leave a Reply