Ranjeet Bhartiya 21/05/2019

रांची भारत के झारखंड राज्य में स्थित एक जिला है.ये इस राज्य की राजधानी भी है. पहाड़ियों, हरे-भरे जंगलों और झरनों से आच्छादित यह सुंदर जिला झारखंड के मध्य भाग में स्थित है. यह जिला दक्षिणी छोटानागपुर प्रमंडल के अंतर्गत आता है. रांची शहर, रांची जिला तथा दक्षिणी छोटानागपुर प्रमंडल का प्रशासनिक मुख्यालय है. रांची जिले में कितने प्रखंड है? कितनी जनसंख्या है? आईये जानते हैं रांची जिले की पूरीजानकारी.

नामकरण

पहले इस जिले का नाम लोहरदगा था. 1899 इसका नाम लोहरदगा से बदल कर रांची कर दिया गया. रांची जिले का नाम इस स्थान पर स्थित एक छोटे से उरांव गांव ‘अर्ची” पर पड़ा है.

रांची जिला कब बना

इस जिले का गठन 1899 में किया गया था.

रांची जिले की भौगोलिक स्थिति

बाउंड्री (चौहद्दी)

उत्तर में – रामगढ़ जिला, हजारीबाग जिला और चतरा जिला
दक्षिण में – गुमला जिला, खूंटी जिला और सरायकेला खरसावां जिला
पूरब मेंसरायकेला खरसावां जिला और पश्चिम बंगाल का पुरुलिया जिला
पश्चिम में – लातेहार जिला, लोहरदगा जिला और गुमला जिला

समुद्र तल से ऊंचाई :

रांची शहर समुद्र तल से लगभग 651 मीटर की औसत ऊंचाई पर स्थित है.

क्षेत्रफल
इस जिले का भौगोलिक क्षेत्रफल 5097 वर्ग किलोमीटर है.

प्रमुख नदियां : स्वर्णरेखा, दक्षिणी कोयल और शंख.

अर्थव्यवस्था- कृषि, उद्योग और उत्पाद

इस जिले की अर्थव्यवस्था कृषि, मछली पालन, वन, खनिज और उद्योग पर आधारित है.

कृषि
जिले की अर्थव्यवस्था मुख्य रूप से कृषि पर आधारित है. जिले में उगाए जाने वाले प्रमुख फसल हैं: धान, बाजरा, गेहूं, दलहन, तिलहन और सब्जियां.

मछली पालन
रांची जिले की अर्थव्यवस्था में मछली पालन का अहम योगदान है. मछली पालन जिले के लोगों के लिए अतिरिक्त रोजगार और आय का जरिया है. स्वर्णरेखा, कोयल, शंख नदी और जलाशयों से मछली का उत्पादन होता है.

वन
इस जिले का एक बड़ा हिस्सा (लगभग 23%) वनों से आच्छादित है. जिले में पाए जाने वाले प्रमुख वन उत्पाद हैं: साल, असवान, गम्हार, महुआ, शीशम, जामुन इमली, बांस, केंद और सिमुल

खनिज
ये जिला खनिज संपदा से समृद्ध है. इस जिले में  पाए जाने वाले प्रमुख खनिज हैं: लेटराइट, लाइमस्टोन, चाइना क्ले, कोयला, एस्बेस्टस और सजावटी पत्थर.

उद्योग
जिले में कई भारी औद्योगिक और खनन संबंधित इकाइयां कार्यरत हैं. जिले में स्थित प्रमुख उद्योग हैं: इंजीनियरिंग उद्योग, सीमेंट उद्योग, स्टील उद्योग , खनन उद्योग, अल्मुनियम उद्योग और लाह उद्योग.

प्रशासनिक सेटअप

प्रमंडल: दक्षिणी छोटानागपुर

प्रशासनिक सहूलियत के लिए इस जिले को 2 अनुमंडलों और 18 प्रखंडों में बांटा गया है.

अनुमंडल:
इस जिले को 2 अनुमंडलों में बांटा गया है- रांची और बुंडू.

प्रखंड
रांची अनुमंडल के अंतर्गत कुल 14 प्रखंड आते हैं:  कांके, ओरमांझी, अंगारा, सिल्ली, नामकुम, नगरी, इटकी, लापुंग, बेड़ो, मंदार, रातू, चान्हों, बुरमू और खलारी.

बुंडू अनुमंडल के अंतर्गत कुल 4 प्रखंड आते हैं: बुंडू, तमाड़, सोनाहातु और राहे.

पुलिस थानों की संख्या : 45
ग्राम पंचायतों की संख्या: 305
कुल गांवों की संख्या: 1311

निर्वाचन क्षेत्र
लोक सभा : रांची लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र
इस लोक सभा निर्वाचन क्षेत्र के अंतर्गत रांची जिला और सरायकेला खरसावां जिला का कुछ हिस्सा आता है.

विधानसभा
इस  जिले के अंतर्गत 6 विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र आते हैं: सिल्ली, खिजरी, रांची, हटिया, कांके और मांडर.

रांची जिले की डेमोग्राफीक्स ( जनसांख्यिकी)

2011 के आधिकारिक जनगणना के अनुसार इस जिले की जनसांख्यिकी इस प्रकार है-
कुल जनसंख्या : 29.14 लाख
पुरुष : 14.94 लाख
महिला: 14.19 लाख

जनसंख्या वृद्धि (दशकीय): 23.98%
जनसंख्या घनत्व (प्रति वर्ग किलोमीटर): 572

झारखंड की जनसंख्या में अनुपात: 8.83%
लिंगानुपात (महिलाएं प्रति 1000 पुरुष) : 949

औसत साक्षरता: 76.06%
पुरुष साक्षरता : 84.26%
महिला साक्षरता: 67.44%

शहरी और ग्रामीण जनसंख्या
शहरी जनसंख्या : 43.14%
ग्रामीण जनसंख्या: 56.86%

रांची जिले की रिलिजन  (धर्म)

2011 के आधिकारिक जनगणना के अनुसार, ये एक हिंदू बहुसंख्यक जिला है. जिले में हिंदुओं की जनसंख्या 55.32% है, जबकि मुस्लिमों की आबादी 14.09% है. अन्य धर्मों की बात करें तो जिले में ईसाई 6.66%, सिख 0.17%, बौद्ध 0.03%; जैन 0.09% और अन्य 23.25% हैं.

भाषाएं
इस जिले में बोली जाने वाली प्रमुख भाषाएं हैं: हिंदी, नागपुरी और मुंडारी.

रांची पर्यटन

जगन्नाथ मंदिर

भगवान जगन्नाथ को समर्पित यह प्रसिद्ध मंदिर  जिला मुख्यालय से लगभग 8 किलोमीटर की दूरी पर धुर्वा में स्थित है. उड़ीसा के पुरी जगन्नाथ मंदिर के शैली में निर्मित इस मंदिर का निर्माण 1691 ईसवी में नागवंश के राजा एनी नाथ शाहदेव ने किया था.

रॉक गार्डन

जिला मुख्यालय से लगभग 10 किलोमीटर पूर्व में स्थित रॉक गार्डन इस जिले का एक प्रमुख पर्यटन आकर्षण और पिकनिक स्पॉट है. रॉक गार्डन का निर्माण गोंडा हिल के चट्टानों को काटकर किया गया था.

टैगोर हिल

टैगोर हिल इस जिले का एक लोकप्रिय पर्यटन स्थल है. यहाँ से आप पूरे रांची जिले का मनोरम दृश्य देख सकते हैं.

दशम जलप्रपात

यह सुंदर जलप्रपात  जिला मुख्यालय से लगभग 40 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है.

जोनहा जलप्रपात

सुंदर भाटी जिला मुख्यालय से लगभग 42 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है.

हुंडरू जलप्रपात

जिला मुख्यालय से लगभग 46 किलोमीटर दूरी पर स्थित हुंडरू जलप्रपात रांची जिले का एक लोकप्रिय पर्यटन स्थल है.

रांची कैसे पहुंचे?

हवाई मार्ग
इस जिले का अपना हवाई अड्डा है. यहां के लिए डायरेक्ट हवाई सेवा उपलब्ध है.

निकटतम हवाई अड्डा : बिरसा मुंडा एयरपोर्ट, रांची (Code: IXR)

रेल मार्ग
निकटतम रेलवे स्टेशन : रांची जंक्शन रेलवे स्टेशन (Station Code : RNC)

सड़क मार्ग
रांची ,सड़क मार्ग से झारखंड राज्य और देश के प्रमुख शहरों से अच्छे से जुड़ा हुआ है. नेशनल हाईवे 7, नेशनल हाईवे 47 और नेशनल हाईवे 68 रांची से गुजरती है. यहां के लिए नियमित बस सेवाएं उपलब्ध है. आप यहां अपने निजी वाहन कार या बाइक से भी आ सकते हैं.

रांची जिले की  कुछ रोचक बातें:

1.  झारखंड का सबसे बड़ी आबादी वाला जिला है. जनसंख्या की दृष्टि से  झारखंड में प्रथम स्थान है.

2. क्षेत्रफल की दृष्टि से  झारखंड का तीसरा बड़ा जिला है.

3. जनसंख्या घनत्व के मामले में  झारखंड में 7वां स्थान है.

4. लैंगिक अनुपात के मामले में झारखंड में 14वां स्थान है.

5. तमाड़ प्रखंड के अंतर्गत आने वाला गांव तमाड़ रांची जिले का सबसे बड़ी आबादी वाला गांव है.

6. सबसे ज्यादा गांव वाला प्रखंड: तमाड़ (129)

7. सबसे कम गांव वाला प्रखंड : खलारी (14)

8. क्षेत्रफल की दृष्टि से जिले का सबसे बड़ा गांव:
नामकुम प्रखंड के अंतर्गत आने वाला गांव उलटू (क्षेत्रफल -लगभग 4576.89 हेक्टेयर).

9. क्षेत्रफल की दृष्टि से जिले का सबसे छोटा गांव:
बुंडू प्रखंड के अंतर्गत आने वाला गांव गिलूतीकर (क्षेत्रफल- 21 हेक्टेयर).

Leave a Reply