Sarvan Kumar 19/02/2018

28168332_561021970922084_5001627362727486139_n

घटनाक्रम

उत्तर प्रदेश के बिजनौर शहर में एक लवजिहाद का मामला सामने आया है. जानकारी के मुताबिक एक रिटायर्ड कर्नल की बेटी को एक सप्ताह तक बंधक बनाकर उसके साथ जबरन दुष्कर्म किया गया. पीड़िता मुंबई हाईकोर्ट की वकील है. मुंबई से वह नहटौर घूमने और आरोपी मुस्लिम युवक फैसल की बहन की शादी में शामिल होने के लिए आई थी. उसे झांसा देकर धोखे से बुलाया गया था. हिन्दू युवती पर मजहब बदलने का दबाव भी बनाया गया. उसका जबरन निकाह करने की भी योजना थी. लड़की किसी तरह से कैद से भाग कर थाने पहुंची.

अधिकारीयों ने बताया की मुख्य आरोपी को पकड़ लिया गया है. जबकि उसके परिजन घर का ताला लगाकर फरार हो गए है जिनकी तलाश की जा रही है. युवती के पिता रिटायर्ड कर्नल हैं. जानकारी के मुताबिक नहटौर के मोहल्ला इमामबाड़ा निवासी फैसल मुंबई में सैलून की दुकान करता था. इसी दौरान उसकी युवती से जान पहचान हो गई. मुस्लिम युवक फैसल ने युवती को अपना नाम राहुल बताया था.

आरोपी फैसल ने बहन की शादी व नहटौर घूमने का झांसा देकर हिन्दू युवती को अपने घर बुला लिया. युवती के नहटौर आने पर उसे घर में कैद कर लिया गया. हिन्दू युवती को मानसिक रूप से प्रताड़ना दी गयी और देने के साथ-साथ उसके साथ रेप किया गया. एक सप्ताह तक युवती को प्रताड़ित करते हुए धर्म परिवर्तन करने का दबाव बनाते हुए उसे बुर्का भी पहनाया गया. बहन के निकाह के दिन उसका भी जबरन निकाह करने की योजना बनाई गई थी. विरोध करने पर युवती के साथ मारपीट भी की गई. फैसल का उसके घरवालों ने भी साथ दिया.

जब फैसल अपने घर के अन्य पुरुष सदस्यों के साथ बहन की शादी का सामान खरीदने गया था और घर में सिर्फ महिलाएं ही मौजूद थीं किसी तरह से युवती ने अपने आप को बंधनमुक्त कराया और वह थाने पहुंच गई. पुलिस ने युवती की शिकायत पर फैसल, उसके पिता नजर आलम, भाई शादाब, मां नसीमा, भाभी इशरत के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कर ली है. पुलिस ने फैसल को गिरफ्तार भी कर लिया है. वहीं कार्यवाहक थाना प्रभारी निरीक्षक एमएम चतुर्वेदी का कहना है कि मुख्य आरोपी को पकड़ लिया है. उसके परिजन घर का ताला लगाकर फरार हो गए है. उनकी तलाश की जा रही है.

लवजिहाद एक वास्तविक और गंभी समस्या है

ये घटना देश के अंधे बुद्धिजीवियों और दलाल पत्रकारों के रवैये पर गंभीर सवाल करते हैं.क्या मीडिया और बुद्धिजीवी जानबूझकर ऐसे घटनाओं को दबा देना चाहते हैं?
1. हिन्दू नाम बताकर किसी मुस्लिम का किसी लड़की से दोस्ती करना क्या धोखा नहीं हैं?
2. धर्म बदलकर निकाह करने की थी साजिश करना क्या प्यार है?
3. लड़की का रेप करना , कैद करना , टार्चर करना , और निकाह के लिए मज़बूर करना -क्या ये प्यार है?
4. फैसल को उसके पिता पिता, भाई, मां और भाभी का साथ देना साबित करता है की मुस्लिमों में काफिरों को मुसलमान बनाने के लिए एक आम सहमति है.

प्यार स्वतंत्र होता है, स्वतंत्रता देता है ऐसे में किसी लड़की का धर्म परिवर्तन की साजिश करके मुसलमान बनाना इस्लामिक विस्तारवाद का तरीका ही है और कुछ नहीं. लव जिहाद एक गंभीर समस्या है जिसका इलाज अब ज़रूरी है .

Leave a Reply