Ranjeet Bhartiya 22/11/2022
Jankaritoday.com अब Google News पर। अपनेे जाति के ताजा अपडेट के लिए Subscribe करेेेेेेेेेेेें।
 

Last Updated on 23/11/2022 by Sarvan Kumar

भारत की राजनीति में सवर्णों का दबदबा रहा है. सवर्ण जातियों में भूमिहार बिहार और पूर्वांचल की राजनीति में बहुत प्रभावशाली रहे हैं. बिहार, उत्तर प्रदेश में सरकार भले ही किसी भी पार्टी की रही हो, लेकिन भूमिहार नेताओं की हमेशा तवज्जो मिलती रही है. आइए इसी क्रम में जानते हैं भूमिहार नेताओं के बारे में.

भूमिहार नेता

भूमिहार वर्ग को हिंदू धर्म में सवर्ण किसान के रूप में मान्यता प्राप्त है. पूर्व में इस समुदाय के लोगों की बिहार और उत्तर प्रदेश के पूर्वांचल में बड़ी जमींदारी और रियासतें थीं. यह समुदाय शुरुआत से ही राजनीतिक रूप से काफी सक्रिय रहा है. पारंपरिक जमींदार और प्रारंभिक साक्षर जातियों में से एक होने के नाते, भूमिहार ब्रिटिश काल से ही बिहार की राजनीति में प्रभावशाली रहे हैं. भूमिहार नेताओं ने किसान, वामपंथी और स्वतंत्रता आंदोलनों को संगठित करने में अग्रणी भूमिका निभाई थी. वर्तमान में भी जमीन पर दबदबे, आर्थिक रूप से समृद्ध, शिक्षित समुदाय होने तथा प्रबल जातिगत एकता के दम पर भूमिहार उत्तर प्रदेश और बिहार के राजनीति में अपना प्रभाव बनाए रखते हैं. इस समाज से आने वाले लोगों ने राजनीति में उच्च स्थान प्राप्त किया है और महत्वपूर्ण पदों पर आसीन हुए हैं. भूमिहार समुदाय से आने वाले प्रमुख नेताओं के बारे में हम नीचे बता रहे हैं-

•हरेंद्र किशोर सिंह (Harendra Kishore Singh)
बेतिया राज के अंतिम शासक

•विभूति नारायण सिंह (Vibhuti Narayan Singh)
बनारस के राजा

•Shri Krishna Sinha (श्रीकृष्ण सिन्हा)
बिहार के पहले मुख्यमंत्री

•कार्यानंद शर्मा (Karyanand Sharma)
राष्ट्रवादी, किसान नेता जिन्होंने जमींदारों और अंग्रेजों के खिलाफ आंदोलनों का नेतृत्व किया.

•सहजानंद सरस्वती (Sahajanand Saraswati)
राष्ट्रवादी, किसान नेता.

•राम दयालू सिंह (Ram Dayalu Singh)
स्वतंत्रता सेनानी व बिहार विधान सभा के प्रथम अध्यक्ष.

•शीलभद्र याजी (Shilbhadra Yaji)
नेताजी सुभाषचंद्र बोस के सहयोगी, फ्रीडम फाइटर

•रामनंदन मिश्रा (Ramnandan Mishra)
राष्ट्रवादी, स्वतंत्रता सेनानी.

•सर गणेश दत्त ( Sir Ganesh Dutt)
ब्रिटिश राज के दौरान एक भारतीय वकील, शिक्षाविद् और प्रशासक. भारत की स्वतंत्रता से पहले बिहार और उड़ीसा राज्य में शिक्षा और स्वास्थ्य सेवाओं में सुधार के लिए प्रसिद्ध.

•कैलाशपति मिश्र (Kailashpati Mishra)
जनसंघ और बाद में भारतीय जनता पार्टी के नेता. 1977 में बिहार के वित्त मंत्री. मई 2003 से जुलाई 2004 तक गुजरात के राज्यपाल.

•राजो सिंह (Rajo Singh)
छह बार (1972 से 1998 तक) बिहार विधान सभा के सदस्य. 1998 और 2004 के बीच दो बार बेगूसराय निर्वाचन क्षेत्र से लोकसभा के सदस्य.

•श्याम सुंदर सिंह धीरज (Shyam Sunder Singh Dhiraj)
बिहार सरकार में पूर्व मंत्री और बिहार विधान सभा के पूर्व सदस्य.

•गंगा शरण सिंह (Ganga Sharan Singh)
तीन कार्यकाल के लिए भारत की संसद के उच्च सदन, राज्य सभा के सदस्य. भारत के पहले राष्ट्रपति राजेंद्र प्रसाद के करीबी.

•श्याम नंदन प्रसाद मिश्र (Shyam Nandan Prasad Mishra)
एक भारतीय नेपाली राजनेता, लेखक और नेपाल सदवावना पार्टी के सह संस्थापक.

•डॉ. चंद्रेश्वर प्रसाद ठाकुर (Dr. C. P. Thakur)
राज्यसभा के पूर्व सदस्य, भारत सरकार के पूर्व मंत्री

•अखिलेश प्रसाद सिंह (Akhilesh Prasad Singh)
बिहार सरकार में कृषि मंत्रालय और उपभोक्ता मामले, खाद्य और सार्वजनिक वितरण मंत्रालय में राज्य मंत्री थे.

•गिरिराज सिंह (Giriraj Singh)
कैबिनेट मंत्री रैंक के साथ भारत गणराज्य के 23वें मंत्रालय में ग्रामीण विकास और पंचायती राज विभाग के मंत्री.

•अनंत कुमार सिंह (Anant Kumar Singh)
बिहार के मोकामा विधानसभा क्षेत्र से विधायक.

•सूरजभान सिंह (Surajbhan Singh)
पूर्व सांसद

•कृष्णानंद राय (Krishnanand Rai)
• 2002 से 2005 तक गाजीपुर जिले में स्थित मोहम्मदाबाद विधानसभा से विधायक.

•सूर्यप्रताप शाही (Surya Pratap Shahi)
उत्तर प्रदेश की 9वीं, 11वीं, 13वीं, 17वीं विधानसभा और 18वीं उत्तर प्रदेश विधानसभा के सदस्य. वर्तमान में वह कृषि, कृषि शिक्षा और कृषि अनुसंधान के पोर्टफोलियो के साथ उत्तर प्रदेश सरकार में कैबिनेट मंत्री.

•अजय राय (Ajay Rai)
उत्तर प्रदेश राज्य के वाराणसी के पिंडरा विधानसभा से पांच बार विधायक.


References:

•Das, Arvind Narayan (1983). Agrarian Unrest and Socio-Economic Change, 1900-1980. Manohar Publishers. p. 103.

•https://www.dnaindia.com/india/report-among-the-22-cabinet-ministers-surya-pratap-shahi-got-2363769

•https://www.financialexpress.com/elections/who-is-ajay-rai-a-history-sheeter-he-lost-to-modi-by-5-lakh-votes-in-2014-lok-sabha-election/1559091/

Advertisement
Shopping With us and Get Heavy Discount Click Here
 
Disclaimer: Is content में दी गई जानकारी Internet sources, Digital News papers, Books और विभिन्न धर्म ग्रंथो के आधार पर ली गई है. Content  को अपने बुद्धी विवेक से समझे। jankaritoday.com, content में लिखी सत्यता को प्रमाणित नही करता। अगर आपको कोई आपत्ति है तो हमें लिखें , ताकि हम सुधार कर सके। हमारा Mail ID है jankaritoday@gmail.com. अगर आपको हमारा कंटेंट पसंद आता है तो कमेंट करें, लाइक करें और शेयर करें। धन्यवाद Read Legal Disclaimer 
 

Leave a Reply