Sarvan Kumar 16/01/2023
Jankaritoday.com अब Google News पर। अपनेे जाति के ताजा अपडेट के लिए Subscribe करेेेेेेेेेेेें।
 

Last Updated on 16/01/2023 by Sarvan Kumar

वेद के बारे में आप ऐसे समझ सकते है, की एक किताब जिसमें सब कुछ है. सब कुछ यानि विज्ञान, गणित ,इतिहास, ब्रह्मांड, चिकित्सा भूगोलरीति-रिवाज, धर्म, ईश्वर , देवता और भी बहुत कुछ। दुनिया की सबसे पुरानी किताब जिसे पढ़कर आप महापंडित ( Brahmin) बन जाते हैं. यहां ब्राह्मण का मतलब जाति से बिल्कुल भी नहीं है.ब्राह्मण तो कोई भी बन सकता है जिसने वेद पढ़ी हो और और उसी जैसा आचरण करता हो. आइए जानते हैं वेदों में क्या है, वेदों को ज्ञान का किताब क्यों कहा जाता है?

भगवान विष्णु को इस संसार के पालनहार के रूप में पूजा जाता है।

वेदों में क्या है?

वेद 4 हैं-  ऋग्वेद, यजुर्वेद, सामवेद और अथर्ववेद वेद प्राचीनतम हिंदू ग्रंथ हैं. वेद शब्द की उत्पत्ति संस्कृत के ‘विद्’ धातु से हुई है. विद् का अर्थ है जानना या ज्ञानार्जन, इसलिये वेद को “ज्ञान का ग्रंथ कहा जा सकता है.भारतीय मान्यता के अनुसार ज्ञान शाश्वत है अर्थात् सृष्टि की रचना के पूर्व भी ज्ञान था एवं सृष्टि के विनाश के पश्चात् भी ज्ञान ही शेष रह जायेगा. चूँकि वेद ईश्वर के मुख से निकले और ब्रह्मा जी ने उन्हें सुना इसलिये वेद को श्रुति भी कहा जाता हैं. वेदों में किसी भी मत, पंथ या सम्प्रदाय का उल्लेख न होना यह दर्शाता है कि वेद विश्व में सर्वाधिक प्राचीनतम साहित्य है.

Vedas-Books of Cosmos

जीवन क्या है ? इसका उदेश्य क्या है.जीने का तरीका क्या है? कैसे हम एक सफल ब्यक्ति बन सकते हैं ये सब वो चीजें है जो हम किसी ‘motivational speaker’ से सुनते हैं. पर क्या आपको पता है यह सारी जानकारियां वेदों में है.
वेद का एक और पहलू भी है और वो है Cosmos. ब्रह्मांड की संपूर्ण जानकारी वेदों में है. Universe कैसे बना, जीवन कैसे और कब पनपा? स्वर्ग लोक कहां है, देवता कहां रहते है? सर्व शक्तिमान ईश्वर कहां रहते है, हम एक पल में Universe के एक छोड़ से दूसरे छोड़ तक कैसे पहुंच सकते है? समय में आगे और पीछे कैसे जा सकते हैं. ये सारी जानकारियां वेदों में है. समस्या यह कि यह काफी Advance लेवल पर है और वह भी संस्कृत में इसलिए आसानी से समझ में नहीं आता है. जो वेदों में लिखा गया है वही आज विज्ञान साबित कर रहा है. विज्ञान वो माध्यम है जिसके सहारे हम ज्ञान के चरम बिंदु पर पहुंच सकते हैं. जब किसी दिन हम चरम बिंदु पर पहुंचेगे तो हमें पता चलेगा यह तो वेदों में पहले से लिखा जा जा चुका है.


मेरा नाम Sarvan kumar है, मैं chemistry teacher हूँ जो बच्चों को उनके board examinations में तथा NEET और JEE जैसे entrance examinations में मदद करता है. मैं सारे धर्मों का आदर करता हूँ और मेरा मानना है कि सारे धर्म का सार एक ही है. आदमी गलत हो सकते हैं पर धर्म नहीं. मेरा मानना है कि वेदों को सिर्फ धर्म के नजरिए से देखना ठीक नहीं है.ये तो ज्ञान की किताब है जिसे सभी को पढ़ना चाहिए. हम अपने इस चैनल से वेदों में लिखी #cosmos की जानकारियों को आप तक लाने का प्रयास करेंगे.

You tube channel link – Vedas- Books of Cosmos 

आप भी हमारे साथ Telegram channel , Facebook Page से जुड़ सकते हैं.
https://t.me/+r0YSxmoDPZxiM2M9.

Advertisement
https://youtu.be/r_To7waRETg
Shopping With us and Get Heavy Discount Click Here
 
Disclaimer: Is content में दी गई जानकारी Internet sources, Digital News papers, Books और विभिन्न धर्म ग्रंथो के आधार पर ली गई है. Content  को अपने बुद्धी विवेक से समझे। jankaritoday.com, content में लिखी सत्यता को प्रमाणित नही करता। अगर आपको कोई आपत्ति है तो हमें लिखें , ताकि हम सुधार कर सके। हमारा Mail ID है jankaritoday@gmail.com. अगर आपको हमारा कंटेंट पसंद आता है तो कमेंट करें, लाइक करें और शेयर करें। धन्यवाद Read Legal Disclaimer 
 

Leave a Reply