Ranjeet Bhartiya 06/03/2019

शेखपुरा जिला भारत के बिहार राज्य में स्थित एक जिला है. बिहार के दक्षिणी भाग में आने वाला यह जिला मुंगेर प्रमंडल के अंतर्गत आता है. यहाँ  एक पहाड़ है, इसका नाम है गिरिहिंडा पहाड़. माना जाता है, इस जगह पर महाभारत के भीम ने दानव स्त्री हिडिंबा से शादी की थी. शेखपुरा जिला में कितने पंचायत हैं?  आइए जानते हैं इस जिले की पूरी जानकारी.

गठन
एक स्वतंत्र जिले के रूप में अस्तित्व में आने से पहले शेखपुरा मुंगेर जिले हिस्सा हुआ करता था. 31 जुलाई 1994 को इसे मुंगेर जिले से अलग करके एक स्वतंत्र जिला बनाया गया.

शेखपुरा जिले की भौगोलिक स्थिति

बाउंड्री (चौहद्दी)
उत्तर में – नालंदा और पटना जिला
दक्षिण में – नवादा और जमुई जिला
पूरब में- लखीसराय जिला
पश्चिम में – नालंदा और नवादा जिला

क्षेत्रफल
जिले का भौगोलिक क्षेत्रफल 689 वर्ग किलोमीटर है.

प्रमुख नदियां : जिले में उल्लेख की जाने वाली कोई बड़ी नदियां नहीं है. बरसात के दौरान कुछ छोटी नदियों का प्रवाह होता है, जैसे सोमी, कोहिहारी, ताती , कछची और रिजाउन.

अर्थव्यवस्था- कृषि ,उद्योग और उत्पाद

इस जिले की अर्थव्यवस्था मुख्य रूप से कृषि पर आधारित है. यहां उगाए जाने वाले मुख्य फसल हैं: धान, गेहूं और तिलहन.

शेखपुरा जिला का प्रशासनिक सेटअप

शेखपुरा जिला के डीएम कौन है

प्रमंडल: मुंगेर
प्रशासनिक सहूलियत के लिए इस जिले को एक अनुमंडल और 6 प्रखंडों में बांटा गया है.

अनुमंडल: 1, शेखपुरा.

प्रखंड: इस जिले को कुल 6 प्रखंडों में बांटा गया है-
शेखपुरा , घाटकुसुम्भा, चवाड़ा, बरबीघा, शेखोपुर सराय और अरियरी.

ग्राम पंचायतों की संख्या: 54
कुल गांवों की संख्या: 310
निर्जन गांवों की संख्या : 52
बसे हुए गांव की संख्या : 258

निर्वाचन क्षेत्र
लोकसभा
शेखपुरा 2 लोकसभा सभा निर्वाचन क्षेत्रों का हिस्सा है: जमुई और नवादा.

विधानसभा
इस जिले में  2 विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र आते हैं: बरबीघा और शेखपुरा.

शेखपुरा जिले की डेमोग्राफी (जनसांख्यिकी)

2011 की आधिकारिक जनगणना के अनुसार,
कुल जनसंख्या : 6.36 लाख
पुरुष : 3.29 लाख
महिला: 3.06 लाख

जनसंख्या वृद्धि (दशकीय): 21.09%
जनसंख्या घनत्व (प्रति वर्ग किलोमीटर): 924
बिहार की जनसंख्या में अनुपात: 0.61%
लिंगानुपात (महिलाएं प्रति 1000 पुरुष) : 930

औसत साक्षरता: 63.86%
पुरुष साक्षरता : 73.56%
महिला साक्षरता: 53.40%

शहरी और ग्रामीण जनसंख्या
शहरी जनसंख्या : 17.13%
ग्रामीण जनसंख्या: 82.87%

धर्म

अधिकारीक जनगणना 2011 के अनुसार, ये जिला  एक हिंदू बहुसंख्यक जिला है. जिले में हिंदुओं की जनसंख्या 93.68% है, जबकि मुस्लिमों की आबादी 5.92% है.अन्य धर्मो की बात करें तो जिले में ईसाई 0.05%, सिख 0.01% , बौद्ध 0.01%और जैन 0.01% हैं.

भाषाएं
शेखपुरा जिला की  प्रमुख भाषाएं हैं: हिंदी, उर्दू , मगधी, इत्यादि.

शेखपुरा जिला के पर्यटन स्थल

गिरिहिंडा पहाड़ / कामेश्वर नाथ मंदिर

करीब 800 फीट ऊंचा गिरिहिंडा पहाड़ इस जिले का महत्वपूर्ण दर्शनीय धार्मिक स्थल है. इस पहाड़ की चोटी पर भगवान शिव और माता पर्वती का मंदिर है, जो बाबा कामेश्वर नाथ मंदिर के नाम से प्रसिद्ध है.ऐसी मान्यता है कि इस मंदिर का निर्माण महाभारत काल में किया गया था. महाभारत काल के दौरान इसी पहाड़ के शिखर पर हिडिंबा नाम की दानवी रहा करती थी. वनवास काल के दौरान पांडव यहां ठहरे थे. यहीं पर गदाधारी भीम ने हिडिंबा से गंधर्व विवाह किया था, जिससे घटोत्कच नामक पुत्र की प्राप्ति हुई.

कामेश्वर नाथ मंदिर

ऐसी मान्यता है कि भीम ने यहां पर एक शिवलिंग स्थापित किया था. भगवान शिव के आदेश पर विश्वकर्मा जी ने रातोंरात यहां एक मंदिर का निर्माण किया. जिसे बाद में बाबा कामेश्वर नाथ मंदिर के नाम से जाना जाने लगा. ऐसी मान्यता है इस मंदिर में पूजा करने से और भगवान शिव का जलाभिषेक करने से निसंतान दंपतियों को संतान की प्राप्ति होती है.

श्री विष्णु धाम, सामस बरबीघा

श्री विष्णु धाम इस जिले में स्थित एक प्रसिद्ध धार्मिक स्थल है. यह मंदिर बरबीघा-नवादा रोड पर, बरबीघा से 5 किलोमीटर दक्षिण में, सामस गांव में स्थित है.इस मंदिर में भगवान विष्णु की 7.5 फीट ऊंची एक अत्यंत ही दुर्लभ प्रतिमा स्थापित है. यह दुर्लभ मूर्ति जुलाई 1993 में तलाब में खुदाई के दौरान मिली थी.

तेहरपुरा मंदिर

यह प्रसिद्ध मंदिर शेखपुरा से 14 किमी दूर ,चेवाड़ा ब्लॉक के अखरा गांव में स्थित है.

शेखपुरा कैसे पहुंचे

हवाई मार्ग
इस जिले में अपना कोई हवाई अड्डा नहीं है. निकटतम हवाई अड्डा: जयप्रकाश नारायण एयरपोर्ट (Code: PAT) शेखपुरा जिले से लगभग 118 किलोमीटर दूर पटना में स्थित है.

रेल मार्ग
रेल मार्ग से आप आसानी से शेखपुरा आ सकते हैं . देश के अन्य प्रमुख शहरों से शेखपुरा के लिए नियमित ट्रेन चलती है. नजदीकी रेलवे स्टेशन: शेखपुरा रेलवे स्टेशन (SHK)

सड़क मार्ग
शेखपुरा, राज्य और देश के प्रमुख नगरों से शहरों से सड़क मार्ग से अच्छे से जुड़ा हुआ है. यह नेशनल हाईवे 333A पर स्थित है. बिहार की राजधानी पटना से सड़क मार्ग से यहां लगभग 3 घंटे में पहुंचा जा सकता है.आप चाहे तो अपने निजी वाहन कार या बाइक से भी यहां आ सकते हैं.

Leave a Reply