Uncategorized

Sarvan Kumar 09/09/2022

मद्धेशिया (Madheshiya/Madhesiya) भारत में पाया जाने वाला एक समुदाय है. इन्हें मद्धेशिया वैश्य, मधेशिया बनिया, मध्यदेशीय वैश्य और मद्धेशिया कांदू समुदाय के नाम से भी जाना जाता है. इनका पारंपरिक व्यवसाय मिठाई बनाना और बेचना, व्यापार तथा मुख्य रसोईया (शेफ) के रूप में काम करना रहा है. इनमें से कुछ कृषि भी करते हैं. इस […]

Ranjeet Bhartiya 07/08/2022

कुर्मी समुदाय भारत में निवास करने वाला एक प्राचीन समुदाय है. वर्तमान में मुख्य रूप से कुशल कृषक के रूप में जाने जाने वाली इस जाति को पौराणिक मान्यताओं के आधार पर वैदिक क्षत्रिय माना जाता है. भारत के विभिन्न भागों में व्यापक रूप से वितरित यह समुदाय कई उपजातियों में बटा हुआ है. आइए […]

Ranjeet Bhartiya 27/07/2022

कुर्मी भारत में निवास करने वाली एक महत्वपूर्ण कृषक-योद्धा जाति है. भारत के स्वतंत्रता संग्राम में तथा आजादी के पश्चात देश के विकास में इस समुदाय के लोगों का महत्वपूर्ण योगदान रहा है. भारत के कई राज्यों में इनकी उल्लेखनीय आबादी है. वर्तमान में इन्हें भारत के अधिकांश राज्यों में अन्य पिछड़ा वर्ग के रूप […]

Ranjeet Bhartiya 26/07/2022

पटेल-पाटीदार समाज के लोग खुद को भगवान विष्णु के अवतार अयोध्या के राजा श्री राम के वंशज होने का दावा करते हैं. यह समुदाय कई उप जातियों में विभाजित है, जिनमें प्रमुख हैं-लेउवा पटेल, कदवा/कड़वा पटेल, सतपंथी और चौधरी पटेल. इन सभी उप जातियों में संख्या, डिस्ट्रीब्यूशन पैटर्न, उत्पत्ति, रिती-रिवाज, कुलदेवी, सामाजिक, आर्थिक और राजनीतिक […]

Ranjeet Bhartiya 25/07/2022

पाटीदार-पटेल (Patidar-Patel) भारत में पाया जाने वाला एक महत्वपूर्ण समुदाय है. गुजरात में यह समुदाय सामाजिक, आर्थिक और राजनीतिक रूप से अत्यंत ही प्रभावशाली है. गुजरात में पाटीदार-पटेल समुदाय दो वर्गों में विभाजित है- कड़वा पाटीदार पटेल और लेउवा पाटीदार पटेल. आइए जानते हैं लेवा पाटीदार पटेल का इतिहास, लेवा पाटीदार की उत्पत्ति कैसे हुई […]