Ranjeet Bhartiya 03/02/2023

हजारों वर्षों की अपनी यात्रा में भारत ने कई राजवंशों का उत्थान और पतन देखा है. यहां हम ऐसे ही एक प्राचीन राजवंश की बात करेंगे जिसने भारत के कई क्षत्रिय वंशों को जन्म दिया है. एक ऐसा वंश जिसमें अनेक प्रतापी राजा हुए जिन्होंने न केवल भारत के एक बड़े क्षेत्र पर शासन किया […]

Ranjeet Bhartiya 02/02/2023

क्षत्रियों का इतिहास शौर्य, वीरता, त्याग और बलिदान की गाथाओं से भरा पड़ा है. प्राचीन काल से लेकर वर्तमान समय तक क्षत्रियों ने सदैव दूसरों की रक्षा का कार्य किया है. इतिहास गवाह है कि जरूरत पड़ने पर क्षत्रियों ने अपना सर्वस्व निछावर कर दिया और अपने प्राणों की आहुति देकर मातृभूमि, भारतीय संस्कृति और […]

Ranjeet Bhartiya 01/02/2023

राजभर भारत में पायी जाने वाली एक ऐसी जाति है, जिसके स्वर्णिम इतिहास के बारे में अधिकांश लोगों को पता नहीं है. राजभर समाज के लोग भी अपने महान इतिहास को भूल चुके हैं. इसका मुख्य कारण यह है कि इनके इतिहास को अन्य शासकों विशेषकर आक्रमणकारी शासकों द्वारा या तो नष्ट कर दिया गया […]

Ranjeet Bhartiya 31/01/2023

भारत का इतिहास कई हजार वर्ष पुराना है. इन हजारों वर्षों के इतिहास में भारत की भूमि पर अनेक साम्राज्यों का उदय हुआ. इनमें से कई साम्राज्य बहुत विशाल और प्रसिद्ध थे, जिनके बारे में आमतौर पर लोग जानते हैं. लेकिन कुछ ऐसे भी साम्राज्य हुए जिसके बारे में अधिकांश लोगों को नहीं पता है. […]

Sarvan Kumar 29/01/2023

ऋग्वेद के सूक्तों के पुरुष रचियताओं में गृत्समद, विश्वामित्र, वामदेव, अत्रि, भारद्वाज, वशिष्ठ आदि प्रमुख हैं। सूक्तों के स्त्री रचयिताओं में लोपामुद्रा, घोषा, शची, कांक्षावृत्ति, पौलोमी आदि प्रमुख हैं। वेदों में किसी प्रकार की मिलावट न हो इसके लिए ऋषियों ने शब्दों तथा अक्षरों को गिन कर लिख दिया था। कात्यायन प्रभृति ऋषियों की अनुक्रमणी […]