Ranjeet Bhartiya

Ranjeet Bhartiya 02/10/2022

भारत साधु-संतों की भूमि है. संत अपार ज्ञान का भंडार होते हैं. उनके संगति से हमारी प्रवृत्ति सदाचार की ओर अग्रसर होती है. जब-जब समाज अज्ञान के अंधकार में डूबा, हमारे संतो ने अपने ज्ञान से समाज को प्रकाशित करने का कार्य किया. जब-जब समाज में कुरीतियों का बोलबाला हुआ, संतो ने अपने प्रवचन और […]

Ranjeet Bhartiya 01/10/2022

जीवन में शिक्षा का बहुत महत्व है. शिक्षा हर क्षेत्र में महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है और उच्चतम क्षमता तक पहुँचने का मार्ग प्रशस्त करती है. शिक्षा हमें दुनिया को देखने के लिए एक बेहतर दृष्टिकोण प्रदान करती है. यह हमें वर्तमान और भविष्य की चुनौतियों को बेहतर तरीके से समझने और उनका उचित समाधान खोजने […]

Ranjeet Bhartiya 30/09/2022

प्राचीन ग्रंथों में किसी को वश में करने और अपना काम कराने के लिए कई प्रकार के उपायों का वर्णन किया गया है. इसी क्रम में आइए जानते हैं कि पासवान (दुसाध) को कैसे नियंत्रित करते हैं, यानी पासवान को काबू में करने के उपायों के बारे में जानते हैं. पासवान को काबू में कैसे […]

Ranjeet Bhartiya 29/09/2022

दुसाध (Dusadh) भारत में निवास करने वाली एक प्राचीन जाति है. यह मुख्य रूप से पूर्वी और उत्तर भारत में निवास करते हैं. बिहार में इनकी उल्लेखनीय आबादी है जहां यह राजनीतिक रूप से काफी मजबूत माने जाते हैं. साथ ही बिहार के पड़ोसी राज्यों उत्तर प्रदेश और झारखंड में भी इनकी आबादी है. अन्य […]

Ranjeet Bhartiya 28/09/2022

भारत में सामाजिक स्तरीकरण (Social Stratification) का एक अनोखा रूप पाया जाता है, जिसे जाति व्यवस्था (Caste System) के नाम से जाना जाता है. भारत में हजारों जातियां निवास करती हैं. ऐसी हीं एक जाति है –पासवान (दुसाध), जिसकी वर्तमान में भारत के कई राज्यों में उपस्थिति है, लेकिन मुख्य रूप से इनका निवास स्थान […]