Ranjeet Bhartiya 24/10/2019

Last Updated on 24/10/2019 by Sarvan Kumar

कन्नौज भारत के उत्तर प्रदेश राज्य में स्थित एक जिला है. उत्तर प्रदेश के मध्य भाग में स्थित यह जिला कानपुर मंडल के अंतर्गत आता है. कन्नौज शहर जिले का प्रशासनिक मुख्यालय है. यह जिला कन्नौज इत्र (कन्नौज परफ्यूम) के लिए भारत ही नहीं विश्व भर में प्रसिद्ध है. इसे इत्र की राजधानी (Perfume Capital of India) भी कहा जाता है. जिले में कितने तहसील है? कितनी जनसंख्या है? आईये जानते हैं कन्नौज जिले की पूूरी जानकारी.

कन्नौज जिला का इतिहास

पुरातात्विक और सांस्कृतिक विरासत की दृष्टि से महत्वपूर्ण कन्नौज भारत के प्राचीन स्थानों में से एक है. बाल्मीकि रामायण, महाभारत और पुराण के अनुसार, इस स्थान का प्राचीन नाम “कान्यकुब्ज” या “महोधा” था जो कालांतर में कन्नौज हो गया.

कन्नौज जिला कब बना

एक स्वतंत्र जिले के रूप में अस्तित्व में आने से पहले यह जिला  फर्रुखाबाद जिले का हिस्सा हुआ करता था. 18 सितंबर, 1997 को इसे फर्रुखाबाद जिले से अलग करके स्वतंत्र जिला बनाया गया.

कन्नौज जिले की भौगोलिक स्थिति

बाउंड्री (चौहद्दी)
यह जिला कुल 7 जिलों से घिरा हुआ है.
उत्तर में-फर्रुखाबाद जिला और हरदोई जिला
दक्षिण में-कानपुर देहात जिला
पूरब में-हरदोई जिला और कानपुर नगर जिला
पश्चिम में-मैनपुरी जिला, इटावा जिला और औरैया जिला
समुद्र तल से ऊंचाई
कन्नौज समुद्र तल से 138-155 मीटर की औसत ऊंचाई पर स्थित है.
क्षेत्रफल
जिले का भौगोलिक क्षेत्रफल 2093 वर्ग किलोमीटर है.
प्रमुख नदियां:
इस जिले की प्रमुख नदियां हैं: गंगा, राम गंगा, ईसन, पांडु, अरिंद और काली.

अर्थव्यवस्था-कृषि, उद्योग और उत्पाद

जिले की अर्थव्यवस्था कृषि, पशुपालन, मछली पालन, वन, उद्योग और व्यवसाय पर आधारित है.

कृषि

कन्नौज जिले की अर्थव्यवस्था मुख्य रूप से कृषि पर आधारित है. जिले में उगाए जाने वाले प्रमुख फसल हैं: मक्का, धान, गेहूं, आलू, दलहन (मटर, उड़द, चना, अरहर और मूंग), तिलहन (सरसों, मूंगफली और सूर्यमुखी, मसाले, प्याज और सब्जियां.

पशुपालन

ग्रामीण क्षेत्रों में पशुपालन जिले के लोगों के लिए आय का एक महत्वपूर्ण जरिया है. जिले के प्रमुख पशु धन हैं: गाय,भैंस, सूअर, बकरी और पोल्ट्री.
मछली पालन
जिले के नदियों, नहरों, तालाबों और जलाशयों से मछली का उत्पादन किया जाता है.

वन

जिले में पाए जाने वाले प्रमुख वन संपदा हैं: बबूल, ढाक, महुआ, सेमल, आम, साल, नीम, जामुन और औषधीय वनस्पति

खनिज

यह जिला खनिज से समृद्ध नहीं है. जिले में पाए जाने वाले प्रमुख खनिज हैं: लाइमस्टोन, कंकर और बालू.
उद्योग
कन्नौज जिला मुख्य रूप से इत्र बनाने के लिए प्रसिद्ध है. यहां बनाए गए इत्र का सऊदी अरब, चीन, फ्रांस और यूरोपीय देशों में निर्यात किया जाता है.यह जिला बीड़ी बनाने के लिए भी प्रसिद्ध है. जिले के अन्य औद्योगिक उत्पाद हैं: मोमबत्ती, साबुन, अगरबत्ती, कृषि उपकरण, इंजीनियरिंग उपकरण, खाद्य तेल, हस्तशिल्प, फर्नीचर और लकड़ी से बने वस्तु.
व्यापार और वाणिज्य
यह जिला इत्र और तंबाकू व्यापार के लिए प्रसिद्ध है. जिले से निर्यात किए जाने वाले प्रमुख पदार्थ हैं: इत्र, अनाज, गुड़, खाद्य तेल, तंबाकू, आलू, मसाले, हस्तशिल्प, मोमबत्ती, अगरबत्ती, कृषि उपकरण और इंजीनियरिंग उपकरण. जिले में आयात किए जाने वाले प्रमुख पदार्थ हैं: रोजमर्रा के सामान, दवाई, कपड़े, उर्वरक, केरोसिन तेल, धातु के बने सामान, पेट्रोल और तेंदू के पत्ते

प्रशासनिक सेटअप

प्रमंडल: कानपुर
प्रशासनिक सहूलियत के लिए इस जिले को 3 तहसीलों (अनुमंडल) और 8 विकासखंडो (प्रखंड/ ब्लॉक) में बांटा गया है.
तहसील (अनुमंडल):
जिले को कुल 3 तहसीलों में बांटा गया है: छिबरामऊ, कन्नौज और तिर्वा.
विकासखंड (प्रखंड):
इस जिले को कुल 8 विकासखंडों (प्रखंडों) में बांटा गया है: छिबरामऊ, तालग्राम, गुगरापुर, जलालाबाद, कन्नौज, उमर्दा, हसेरन और सौरिख.
नगर पालिका परिषद की संख्या: 3
नगर पंचायतों की संख्या: 5
ग्राम पंचायतों की संख्या: 441
गांवों की संख्या: 752

निर्वाचन क्षेत्र

लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र: 1, कन्नौज
विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र: 3
कन्नौज जिले जिले के अंतर्गत कुल 3 विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र आते हैं: छिबरामऊ, तिर्वा और कन्नौज.

कन्नौज जिले की डेमोग्राफीक्स  (जनसांख्यिकी)

2011 के आधिकारिक जनगणना के अनुसार, इस जिले की जनसांख्यिकी इस प्रकार है-
कुल जनसंख्या: 16.57 लाख
पुरुष: 8.81 लाख
महिला: 7.74 लाख
जनसंख्या वृद्धि (दशकीय): 19.27%
जनसंख्या घनत्व (प्रति वर्ग किलोमीटर): 792
उत्तर प्रदेश की जनसंख्या में अनुपात: 0.83%
लिंगानुपात (महिलाएं प्रति 1000 पुरुष): 879
औसत साक्षरता: 72.70%
पुरुष साक्षरता: 80.91%
महिला साक्षरता: 63.33%
शहरी और ग्रामीण जनसंख्या
शहरी जनसंख्या: 16.95%
ग्रामीण जनसंख्या: 83.05%

धार्मिक जनसंख्या

2011 के आधिकारिक जनगणना के अनुसार, कन्नौज एक हिंदू बहुसंख्यक जिला है. जिले में हिंदुओं की जनसंख्या 83.05% है, जबकि मुस्लिमों की आबादी 16.54% है. अन्य धर्मों की बात करें तो जिले में ईसाई 0.08%, सिख 0.03%, बौद्ध 0.12% और जैन 0.04% हैं.
भाषाएं
जिले में बोली जाने वाली प्रमुख भाषाएं हैं: हिंदी और उर्दू.

कन्नौज जिले में आकर्षक स्थल

इस जिले में पौराणिक, धार्मिक, पुरातात्विक और ऐतिहासिक दृष्टि से महत्वपूर्ण कई दर्शनीय स्थल हैं. जिले में स्थित प्रमुख दर्शनीय स्थलों के बारे में संक्षिप्त विवरण:

मां अन्नपूर्णा मंदिर

अन्न की देवी मां अन्नपूर्णा को समर्पित यह प्रसिद्ध शक्तिपीठ कन्नौज रेलवे स्टेशन से लगभग 5 किलोमीटर की दूरी पर तिर्वा में स्थित है.

बाबा गौरी शंकर मंदिर

माता पार्वती और भगवान शिव को समर्पित यह प्रसिद्ध मंदिर कन्नौज रेलवे स्टेशन से लगभग 6 किलोमीटर की दूरी पर जिले के पूर्वी छोर पर स्थित है. इस मंदिर का निर्माण छठी सदी में किया गया था.

लाख-बहोसी पक्षी अभयारण्य

कन्नौज रेलवे स्टेशन से लगभग 40 किलोमीटर दूरी पर स्थित यह खूबसूरत पक्षी अभयारण्य प्रकृति प्रेमियों के लिए एक लोकप्रिय पर्यटन स्थल है. लगभग 80 वर्ग किलोमीटर क्षेत्र में फैले इस पक्षी अभयारण्य की स्थापना 1989 में की गई थी. यहां आप विभिन्न प्रजातियों के पक्षियों को देख सकते हैं.

पुरातात्विक संग्रहालय (म्यूजियम)

कन्नौज रेलवे स्टेशन से लगभग 5 किलोमीटर की दूरी पर स्थित यह संग्रहालय इतिहास में रुचि लेने वाले लोगों के लिए एक आदर्श पर्यटन स्थल है.

कन्नौज कैसे पहुंचे?

हवाई मार्ग

इस जिले का अपना हवाई अड्डा नहीं है. यहां के लिए डायरेक्ट हवाई सेवाएं उपलब्ध नहीं है. निकटतम हवाई अड्डा: कानपुर एयरपोर्ट (Code: KNU). यह हवाई अड्डा कन्नौज से लगभग 107 किलोमीटर की दूरी पर कानपुर के चकेरी में स्थित है. दूसरा नजदीकी हवाई अड्डा: चौधरी चरण सिंह इंटरनेशनल एयरपोर्ट, लखनऊ (Code: LKO). यह हवाई अड्डा कन्नौज से लगभग 117 किलोमीटर दूरी पर लखनऊ में स्थित है.

रेल मार्ग

यह जिला रेल मार्ग से उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ तथा देश के विभिन्न हिस्सों से अच्छे से जुड़ा हुआ है. निकटतम रेलवे स्टेशन: कन्नौज रेलवे स्टेशन (Code: KJN) और कन्नौज सिटी रेलवे स्टेशन ( Code: KJNC).

सड़क मार्ग

कन्नौज जिला सड़क मार्ग से उत्तर प्रदेश और देश के प्रमुख शहरों से अच्छे से जुड़ा हुआ है. यहां के लिए नियमित बस सेवाएं उपलब्ध है. आप यहां अपने निजी वाहन कार या बाइक से भी आ सकते हैं.
नेशनल हाईवे 34 (NH 34) और नेशनल हाईवे 234 (NH 234) जिले से होकर गुजरती है.

कन्नौज जिले की कुछ रोचक बातें:

2011 के जनगणना के अनुसार,
1. जनसंख्या की दृष्टि से उत्तर प्रदेश में 58वां स्थान है.
2. लिंगानुपात के मामले में उत्तर प्रदेश में 52वां स्थान है.
3. साक्षरता के मामले में उत्तर प्रदेश में 14वां स्थान है.
4. सबसे ज्यादा बसे गांव वाला तहसील: छिबरामऊ (321).
5. सबसे कम बसे गांव वाला तहसील: तिर्वा (164)
6. जिले में कुल निर्जन गांवों की संख्या: 64.

"चाहे हम किसी देश, किसी क्षेत्र में रह रहे हो ऑनलाइन शॉपिंग ने  दुनिया भर के दुकानदारों को हमारे कंप्यूटर में ला दिया है। अगर हमें कोई चीज पसंद नहीं आती है तो उसे हम तुरंत ही लौटा भी सकते हैं। काफी मेहनत और Research करने के बाद  हम लाएं है आपके लिए Best Deal Online.

"

Leave a Reply