Ranjeet Bhartiya 26/09/2019
जाट गायक सिद्धू मूसेवाला आज हमारे बीच नहीं है पर उनकी याद हमारे दिलों में हमेशा बनी रहेगी। अपने गानों के माध्यम से वह अमर हो गए हैं । सिद्धू मूसेवाला की 29 मई को मानसा जिले में उनके घर से कुछ किलोमीटर दूर ही गोली मारकर हत्या कर दी गई थी. हत्या किसने और किस वजह से की यह तो जांच के बाद ही पता चल पाएगा लेकिन हमने जाट समाज का एक अनमोल रत्न खो दिया है। उनके फैंस पर गमों का पहाड़ टूट पड़ा है। jankaritoday.com की टीम के तरफ से उनको एक सच्ची श्रद्धांजलि! Jankaritoday.com अब Google News पर। अपनेे जाति के ताजा अपडेट के लिए Subscribe करेेेेेेेेेेेें।
 

Last Updated on 07/09/2020 by Sarvan Kumar

पहले बालाकोट अटैक फिर जम्मू कश्मीर में धारा 370 खत्म करने के बाद, अमेरिका जिस तरह से भारत के साथ मजबूती से खड़ा रहा, यह भारत और अमेरिका के बीच मजबूत रिश्ते को दर्शाता है. “HOWDY MODI” इवेंट ने इस दोस्ती पर मुहर लगा दी है. जिस तरह मोदी और ट्रंप ने हाथ में हाथ डाले स्टेडियम का चक्कर लगाया यह दुश्मन देशों को परेशान करने वाला था. आइए जानते हैं HOWDY MODI के कुछ ऐसे पल जो हमेशा यादगार रहेंगे. साथ में इस बात को भी समझने का प्रयास करेंगे कि कैसे  HOWDY MODI इवेंट भारत और अमेरिका के मजबूत रिश्ते का एक प्रत्यक्ष गवाह बना.

1.एक भारतीय इवेंट में एक शक्तिशाली राष्ट्रपति का पूरे 50 मिनट रुकना

HOWDY MODI मोदी पूरी तरह से एक भारतीय कार्यक्रम था. इस कार्यक्रम में आने वाले लोग भारतीय मूल के अमेरिकी नागरिक थे, जिन्हें हम NRI कहते हैं. इस इवेंट में अमेरिकन प्रेसिडेंट का आना जरूरी नहीं था, लेकिन प्रेसिडेंट ट्रंप ना सिर्फ आए बल्कि पूरे 50 मिनट तक रुके भी. जब तक प्रधानमंत्री मोदी का भाषण चला तब तक ट्रंप वही रूके और मोदी के भाषण को ध्यान से सुना.

2.अबकी बार ट्रंप सरकार

प्रधानमंत्री मोदी शुरुआती संबोधन में जिस तरह से बोले ऐसा लग रहा था वह ट्रंप का चुनाव प्रचार कर रहे हैं. मोदी ने इस संबोधन में ट्रंप की जमकर तारीफ किया.अपने संबोधन में प्रधानमंत्री मोदी ने “अबकी बार ट्रंप सरकार” कहकर एक तरह से प्रेसिडेंट ट्रंप के लिए वोट मांगा. यह कुछ ऐसा ही था जैसे कि मोदी भारत में अपने पार्टी के किसी प्रत्याशी के लिए चुनाव प्रचार कर रहे हों.

मोदी का जबरदस्त कूटनीतिक परिचय

कहते हैं दोस्ती बराबर वालों में होती है. हर दोस्ती के पीछे कुछ स्वार्थ होता है. ताकतवर और हर तरह से बेहतर होते हुए भी अमेरिका भारत से दोस्ती प्रगाढ़ करने में क्यों लगा है? भारत का विशाल जनसमुदाय और बड़ा बाजार भारत की असली ताकत है. और इस ताकत का एहसास प्रधानमंत्री मोदी ने अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप को अच्छी तरह से करवाया.

नरेंद्र मोदी ने अपने भाषण में कहा,  2017 में प्रेसिडेंट ट्रंप ने मुझे अपनी फैमिली से मिलाया था. 2019 में, मैं उनको अपनी फैमिली से मिला रहा हूं.

3.टैक्सास सीनेटर ने इवेंट को फ्रेंडशिप सेलिब्रेशन बताया

ऐसे तो इस इवेंट का आयोजन टैक्सास इंडिया फोरम के प्रवासी भारतीयों ने किया था जिसका नाम था-“Shared Dreams, Bright Future”. टैक्सास सीनेटर टेड क्रूज ने इस आयोजन को भारत और अमेरिका का फ्रेंडशिप सेलिब्रेशन बताया.उन्होंने कहा, दो लोकतांत्रिक देश जो भविष्य के एक समान विजन के लिए प्रतिबद्ध हैं. यह विजन हमारे नागरिकों के आशाओं और सपनों पर आधारित है.

4.जब  मोदी और ट्रंप ने हाथ में हाथ डालकर स्टेडियम का चक्कर लगाया

कार्यक्रम के अंत में प्रधानमंत्री मोदी और अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने हाथ में हाथ डालकर स्टेडियम के चारों तरफ चक्कर लगाया। ये एक ऐतिहासिक छण था. भारतीय लोगो ने भारत और अमेरिका के  राष्ट्राध्यक्ष को करीब से देखा और अपने आपको भारतीय होने पर गौरवान्वित महसूस किया.

 

Advertisement
Disclaimer: Is content में दी गई जानकारी Internet sources, Digital News papers, Books और विभिन्न धर्म ग्रंथो के आधार पर ली गई है. Content  को अपने बुद्धी विवेक से समझे। jankaritoday.com, content में लिखी सत्यता को प्रमाणित नही करता। अगर आपको कोई आपत्ति है तो हमें लिखें , ताकि हम सुधार कर सके। हमारा Mail ID है jankaritoday@gmail.com. अगर आपको हमारा कंटेंट पसंद आता है तो कमेंट करें, लाइक करें और शेयर करें। धन्यवाद

Leave a Reply