Ranjeet Bhartiya 30/05/2018

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पांच दिन के इंडोनेशिया, मलेशिया और सिंगापुर दौरे पर हैं. अपने दौरे के पहले चरण में पीएम मोदी सबसे पहले इंडोनेशिया पहुंचे जहाँ उनका ज़ोरदार स्वागत किया गया. मलेशिया और ऑस्ट्रेलिया के बीच हजारों द्वीपों पर फैला इंडोनेशिया दुनिया की सबसे बड़ी मुस्लिम आबादी वाला देश है. इंडोनेशिया के 87.2 % लोग इस्लाम धर्म को मानने वाले हैं. इतनी बड़ी मुस्लिम आबादी होने के बाबजूद भी आपको इंडोनेशिया में मज़हबी कट्टरता देखने को नहीं मिलेगी. इंडोनेशिया दुनिया की सबसे बड़ी मुस्लिम आबादी वाला देश है और दुनिया का तीसरा सबसे बड़ा लोकतंत्र भी. इंडोनेशिया और भारत में काफी सांस्कृतिक समानताएं हैं.आइये जानें 8 बातें जो भारत के मुसलमान इंडोनेशिया के मुसलमानों से सीख सकते हैं.

इंडोनेशिया और हिन्दू धर्म

1. इंडोनेशिया पर हिंदू धर्म का स्पष्ट प्रभाव देखने को मिलता है. एक मुस्लिम बहुल देश होने के बावजूद इंडोनेशिया के मुसलमान रामायण और रामायण मंचन को अपनी संस्कृति का अहम् हिस्सा मानते हैं.
2. जहाँ हमारे देश के कुछ हिस्सों में हिन्दू त्यौहारों के दौरान साम्प्रदायिक तनाव बढ़ जाता है वहीं मुस्लिम बहुल देश होने के बावजूद इंडोनेशिया में हिंदू देवी-देवताओं की पूजा की जाती है.

3. जहां भारत में हिन्दू देवी -देवताओं के अस्तित्व पर ही सवाल खड़े किये जाते हैं वहीँ मुस्लिम बहुल देश इंडोनेशिया में हिन्दू देवी देवताओं का सम्मान किया जाता है. इंडोनेशिया में भगवान गणेश को कला और बुद्धि का भगवान माना जाता है. यहां लोग बजरंगबली की भी पूजा करते हैं. लोग उन्‍हें अपने रक्षक के तौर पर देखते हैं.

इंडोनेशिया में हिन्दू मंदिर

4. भारत में इस्लामिक कट्टरपंथ हावी होने लगा है. गैर मुस्लिमों के लिए फतवे निकाले जाने लगे हैं. मंदिर बनाने पर और हिन्दू देवी -देवताओं की मूर्तियां लगाने पर हंगामा किया जाता है. लेकिन पूरे इंडोनेशिया में रामायण और महाभारत की कहानी हर कोई जानता है. वहां के जकार्ता स्क्वेर में कृष्णा-   अर्जुन की मूर्तियां भी स्थापित हैं.

5. भारत में हिन्दुओं के त्यौहारों के खिलाफ फतवे नकाले जाने लगे हैं. मुस्लिमों से कहा जाता है की गैर मुस्लिमों के त्यौहारों पर कोई मुसलमान बधाई ना दें. लेकिन इंडोनेशिया के मुसलमान हिंदू मंदिरों में रामायण मंचन में भाग लेने के लिए जाते हैं. इंडोनेशिया के मुसलमान मानते हैं की वो केवल मुस्लिम नहीं हैं. वो हिंदू और बौद्ध धर्म को भी सीखते- समझते हैं.

6. इंडोनेशिया की संस्कृति, भाषा और भूमि पर हिंदू संस्कृति की अमिट छाप देखने को मिलती है और इस्लाम खतरे में भी नहीं आता. आपको जगह-जगह पर भगवान विष्णु और शिव के मंदिर मिल जाएंगे. संस्कृत में लिखे हुए शब्द, रामायण और महाभारत का जिक्र मिल जायेगा.

7. इंडोनेशिया में हिंदू-मुस्लिम के बीच सौहार्द, आपसी सम्मान और प्रेम को देखकर सुखद हैरानी होती है. इंडोनेशिया आधिकारिक तौर पर 6 धर्मों को मानता है जिसमें हिंदू धर्म को 1962 में जगह मिली. जावा, बाली और लोमबोक में हिंदू धर्म के काफी अनुयायी हैं.

8. इंडोनेशिया के जावा में कठपुतली बनाने का काम होता है. यहाँ राम, सीता और घटोत्कच की कृतियां भी बनायीं जाती हैं. इनको बनाने के लिए भैंस की खाल का प्रयोग किया जाता है. इंडोनेशिया के मुसलमान कहते हैं की हम गाय की खाल का प्रयोग नहीं करते क्योंकि हम हिंदुओं का सम्मान करते हैं और उनके लिए यह पवित्र पशु है.

Leave a Reply