नहीं रहे सबके प्यारे ‘गजोधर भैया’। राजू श्रीवास्तव ने 58 की उम्र में ली अंतिम सांस। राजू श्रीवास्तव को दिल का दौरा पड़ा था जिसके बाद से वो 41 दिनों से दिल्ली के एम्स में भर्ती थे। उनकी आत्मा को शांति मिले, मुझे विश्वास है कि भगवान ने उसे इस धरती पर रहते हुए जो भी अच्छा काम किया है, उसके लिए खुले हाथों से स्वीकार करेंगे #RajuSrivastav #IndianComedian #Delhi #AIMS Jankaritoday.com अब Google News पर। अपनेे जाति के ताजा अपडेट के लिए Subscribe करेेेेेेेेेेेें।
 

Last Updated on 11/05/2022 by Sarvan Kumar

Your challan is sent to court for disposal in Hindi. दोस्तों  क्या आपका भी कटा है ट्रैफिक चालान और ये message आया है तो इस पोस्ट को पूरा पढें।

हम कोई ना कोई परिवहन साधन का प्रयोग तो करते ही हैं, और  ना चाहते हुए  भी कभी कभार हमारा traffic challan हो जाता है। ऐसा इसलिए होता है कि हम व्यस्त होने के कारण  documents (PUC, Insurance इत्यादि) अपडेट नही कर पाते। जल्दीबाजी में हम traffic rules(Redight jumping, not giving way to ambulance इत्यादि) तोड़ देते हैं। ऐसे हम सजा के भागी बन जाते हैं।  New Motor vehicle Act 2019 लागू होने के बाद  traffic  rules को तोड़ने  पर लगी penalties  को कई गुना बढ़ा दिया गया है। हमें  traffic rules  के पालन करने के साथ-साथ  अपने documents को अपडेट करते रहना चाहिए जिससे हम अपने जेब खाली होने से बचा सके।

कैसै भरना होता है traffic चालान?

Traffic challan आप on the spot भी कैश में भर सकते हैं।  अगर आप on the spot  challan भरने में असमर्थ है तो आप बाद में भी भर सकते हैं। कुछ  challan आपको बाद ही में भरने होता है। आपके registered number पर message आएगा कि आपको कितना challan भरना है। उस message में एक link होगा जिसकी सहायता से आप online challan भर सकते है। यहां तक  सब ठीक रहता है  समस्या तब शुरू होती है जब आपको ये message मिलता है Your challan is sent to court for disposal.

कोर्ट में चालाक कई कारणों से पहुंच जाता है

जैसे कि आपने online challan submit करने की  अंतिम तिथि को पार कर गए हों  या आपको mobile number  challan services के  लिए registered नही हो।
इसके पहले कि और जानकारी के तरफ बढ़े  मैं आपको एक आपबीती सुनाता हूँ। ( jankaritoday.com  के एक reader  द्वारा भेेेेजा गया)

दो साल षहल मेरे scooty का एक challan कटा था। यह challam PUC certificate की validity एक दिन पहले खत्म होने  के कारण और हेल्मेट ना पहने होने का था। मैं अपने घर के पास ही था सो जल्दीबाजी में हेल्मेट नही पहनी और pollution certificate भी  शाम में बनाने वाला था।   खैर मुझे तब अंदाजा नही था इससे मुझे काफी परेशानी झेल पड़ सकती है। Traffic police वाले ने challan काटा और on the spot  challan भरने के लिए मना कर दिया।  उन्होने  मेरी scooter की RC जमा कर ली। उन्होंने कहा  आपके mobile पर chalan का message आ  जाएगा वहाँ से  आप online  भर सकते हैं। मैनें काफी दिनों तक इंतजार किया  पर कोई message नही आया।  फिर  Covid आ गया और स्थिति गंभीर हो गई।  Covid के कारण lockbdown  हो गया और ये काफी दिनों तक रहा। मुझे अपना काम बंद करना पड़ गया और आर्थिक स्थिति खराब होने के कारण  अपना  Coaching center बंद कर होम टाउन चला गया। लगभग दो साल के बाद 2021 में Covid के दूसरे wave कै ढीले पड़ने के बाद मैं फिर दिल्ली लौटा।
सबसे पहले चालान का याद आया और मैं इसे भरने के तरीके खोजने लगा। किसी ने बताया ये आसान है e-challan भर दो ये बहुत आसान है। मैं Delhi traffic police website  पर गया और know your challan पर click  किया  और एक window खुला। उसमें challan संबंधित जानकारी मांगी जा रही थी।( challan no. Vehicle no. etc.) मैनें जानकारी भरी और मेरे  चालान की जानकारी सामना आई। Online challan भरने का उसमें कोई  link  नही था।  मैं कई दिनो  तक check करता रहा पर को update नही दिखा। फिर मैने challan information के status पर click किया और वहां ये नजर आया।

The challan has been sent to court Mr. ***** . as your contact number is invalid and send to curt, online payment is not allowed. Please contact the sout DFc for dispose the challan.

मेरा first time challan कटा था तो मुझे awareness नही था कि court में चालान कैसे भरे जाता है। traffic challan भरने मैं 18 October 2021 को  court पहुंचा तब तक 3 बज चुके थे। court गेट  के बाहर ही एक व्यक्ति  मिला और मुझसे आने का कारण  पूछा , मैने  बताया चालान भरना है। उसने मेरी । challan की रसीद ली और बोला हो जाएगा। मैं खुश  हो गया कि गेट पर ही सही आदमी  मिल गया। वह मुझे court के अंदर ले गया और सबसे पहले वह मुझे एक board के पास ले गया जहां traffic  नियम के उलंघन के penalties और उसमें मिलने वाले  सजा  के बारे में लिखा गया था। मैं काफी परेशान हो गया क्योंकि Pollution certificate नही होने पर 10000/  और without  helmet होने पर 1000 का challan था। ये काफी भारी रकम था, और सबसे बङी बात ये थे कि इसमें  जेल जाने का भी प्रावधान था। मैं थोड़ा nervous हो गया। उस आदमी ने जो एक वकील भी था मुझे एक दूसरे वकील  के पास ले गया। नया वकील मुझे कोर्ट परिसर में बिठाकर थोड़ी देर में आता हूं कहकर चला गया। आकर उसने मुझे एक offer दिया  कि  हम आपका काम 8000 में करवा देंगे और आपका RC और  चालान  भरने की रसीद भी ला दे देंगे   मैं काफी खुश  हुआ कि कुछ  पैसे बच गए  और काम भी जल्दी मे हो गया।   उसने मुझसे एक form पर sign  करवाया और मुझसे 8000 रुपये ले लिए। फिर वह दो मिनट में आता हूँ कहकर चला गया। मैं खुश  हो रहा था चलो तुरंत  काम खत्म हो गया। पिर थोडीं देर में आया  और RC ना देकर 22  तारीख को माननीय JUDGE के सामने पेश होने का सुचना दे गया। मैं 22 तारीख की ठीक 10  बजे पहुंच गया। माननीय judge के सामने पेश हुआ,  judge ने कुछ formal questions पूछा और  3000  पैसे जमाकर challan dispose करने का  order दे दिया। मैं हक्क -बक्का रह गया सिर्फ 3000. तो क्या उस वकील ने मुझसे 5000 रुपये ज्यादा ले लिए  था। अब मुझे पछतावा हो रहा थ। हद तो तब हो गई  जब उसने मुझे ही 3000  जमा करने के लिए  बोल दिया।  मैने कहा आप खुद भरो क्योंकि 8000 तो मैं आपको पहले ही दे चुका हूं। पर उसने साफ मना कर दिया उसने कहा आपके पैसे खर्च हो गए  क्योंकि आपका चालान काफी पुराना था और documents मिल ही नही रहे थे। court में मुझे तब तक काफी समय बीत चुका था और मैं थक गया था।  कोर्ट बंद होने का टाइम नजदीक  आ रहा था मजबूर मैनें खुद  पैसे देकर challan भरा और मुझे RC वापस मिला।
मुझे आपलोगों से अनुरोध है कि अगर आपका भी court challan आया है तो आप खुद भरें और बिचौलिए के चक्कर में ना पड़े यह बहुत आसान  है, इस post को ज्यादा से ज्यादा share करें और बिचौलिए से लुटने से उन्हे बचाए।

Advertisement
Shopping With us and Get Heavy Discount
 
Disclaimer: Is content में दी गई जानकारी Internet sources, Digital News papers, Books और विभिन्न धर्म ग्रंथो के आधार पर ली गई है. Content  को अपने बुद्धी विवेक से समझे। jankaritoday.com, content में लिखी सत्यता को प्रमाणित नही करता। अगर आपको कोई आपत्ति है तो हमें लिखें , ताकि हम सुधार कर सके। हमारा Mail ID है jankaritoday@gmail.com. अगर आपको हमारा कंटेंट पसंद आता है तो कमेंट करें, लाइक करें और शेयर करें। धन्यवाद Read Legal Disclaimer 
 

Leave a Reply