Sarvan Kumar 23/09/2019

क्या आपके मोबाइल पर भी इनकम टैक्स डिपार्टमेंट के नाम से कोई मैसेज आया है। अगर आया है तो थोड़ा सावधान होने की जरूरत है,  हो सकता है की ये मैसेज फेक हो। आजकल एक मैसेज लोगों के मोबाइल पर आ रहे हैं।  यह आइटीआर डिपार्टमेंट के नाम से आ रहा है, यह एक इनकम टैक्स रिफंड एसएमएस है. क्या आपने भी इस मैसेज का रिप्लाई दिया है या इसमें दिए गए लिंक पर क्लिक किया है? अब क्या होगा? आईटीआर के नाम से आए इस फेक मैसेज की पूरी जानकारी।

इनकम टैक्स रिफंड एसएमएस की प्रमाणिकता की करें जांच

इस तरह के कोई भी मैसेज की अच्छी तरह जांच परख करनी चाहिए। इसको रिप्लाई करने और दिए गए लिंक पर क्लिक करने से पहले इसकी प्रमाणिकता की जांच करें। आप इनकम टैक्स डिपार्टमेंट को मेल कर या ट्वीट कर ऐसा कर सकते हैं।
इनकम टैक्स टैक्स रिफंड एसएमएस कुछ इस तरह से हैं।

Dear XXXXXXX
, lncomeTax (e-filing) requires you to click htts//:bi.ty/2mtrTp9 to submit a formal refund request for the remittance of your approved Tax_refund of Rs26,196.09.

आईटीआर डिपार्टमेंट को tweet  कर जब किसी ने इसका जवाब मांगा तो देखिए उन्होंने क्या जवाब दिया।

तो यह स्पष्ट हो गया है कि यह एक फेक मैसेज है यह मैसेज आपको लूटने के लिहाज से भेजा जा रहा है।

Phishing मैसेज का मतलब क्या होता है?

Phishing मैसेज का अर्थ होता है कोई फ्रॉड मैसेज जो आपको अलग-अलग कम्युनिकेशन चैनल्स के द्वारा  भेजा जाता है।

आपसे क्रेडिट कार्ड?  डेबिट,  कार्ड , अकाउंट नंबर,  पासवर्ड  , पिन , डेट ऑफ बर्थ इत्यादि गोपनीय इंफॉर्मेशन मांगा जाता है।

कैसे पहचाने इस तरह के  Phishing मैसेज को?

एक बात जो इस तरह के मैसेज में  देखने को मिला है वह यह की वो आपको कोई प्रलोभन देने का प्रयास करेंगे। यह प्रलोभन कुछ इस तरह का होगा कि आप खुशी से उछल पड़ेंगे। ऐसे अजीब से प्रलोभन पर विश्वास करना कठिन है क्योंकि आपको इतने पैसे का रिफंड आइटीआर डिपार्टमेंट कभी भी नहीं करेगा । जो भी रकम आइटीआर रिफंड  करना चाहती है वह आपके बैंक अकाउंट में ट्रांसफर कर देगा। अगर आपका टैक्स रिफंड वापस नहीं आया है तो हो सकता है कि आपका बैंक अकाउंट नंबर पैन कार्ड से लिंक ना हो या कोई और वजह ।आइटीआर डिपार्टमेंट को लिखकर यह पता कर सकते हैं।

आइटीआर डिपार्टमेंट हमेशा करता है आपको सतर्क!

आपको मेल/मैसेज कर आइटीआर डिपार्टमेंट हमेशा सतर्क करते रहता है। इस मेसैज में वो स्पष्ट  बताते हैं की आइटीआर डिपार्टमेंट कभी भी आपसे गोपनीय इंफॉर्मेशन नहीं मांगता।

आइटीआर डिपार्टमेंट से कैसे करें संपर्क

अगर आपको लगता है कि आपको कोई फेक ईमेल या एसएमएस आया है तो इस पते पर संपर्क कर सकते है।webmanager@incometax.gov.in​​​​​​​​​​​​​​​​​​ और incident@cert-in.org.in.

 

 

 

 

 

Leave a Reply