Sarvan Kumar

Sarvan Kumar 18/11/2022

महाभारत प्राचीन भारत का सबसे बड़ा महाकाव्य है। ये एक धार्मिक ग्रन्थ भी है। विश्व का सबसे लंबा यह साहित्यिक  ग्रंथ और महाकाव्य, हिन्दू धर्म के मुख्यतम ग्रंथों में से एक है। इस ग्रन्थ को हिन्दू धर्म में पंचम वेद माना जाता है. महाभारत को महर्षि वेद व्यासजी ने लिखा था। महाभारत की रचना कब […]

Sarvan Kumar 11/11/2022

भारत के दलितों के लिए शिक्षा तक पहुंच सुनिश्चित करना भारत सरकार के लिए जाति व्यवस्था के सामाजिक प्रभावों को कम करने में सबसे बड़ी चुनौती रही है, जो अभी भी भारतीय समाज में व्याप्त है. लेकिन समय के साथ दलित समुदाय के लोग भी शिक्षा के प्रति जागरूक हुए हैं और दलित समुदायों में […]

Sarvan Kumar 07/11/2022

रोबीली मूछें, काला चश्मा, और स्टाइलिश हैट, इन सबको अपनी पहचान बनाने वाले अनंत सिंह की दबंगई न सिर्फ उनके चेहरे पर नज़र आती है बल्कि अखबारों की सुर्खियां भी बनती है। अनंत सिंह का जन्म बिहार के बाढ़ जिले के लदमा गांव में 1967 में हुआ था. आइए जानते हैं मोकामा बिहार के भूमिहार […]

Sarvan Kumar 22/10/2022

भारत में कई समुदाय और हजारों जातियां निवास करती हैं. विभिन्न जातियों के अपने-अपने पूज्य पुरुष होते हैं जिन्हें गुरु कहा जाता है. उदाहरण के लिए, वाल्मीकि समाज के लोग महर्षि वाल्मीकि को अपना गुरु मानते हैं जिन्होंने आदि धर्म ग्रंथ, संस्कृत महाकाव्य रामायण की रचना की थी. इसी तरह, गुरु जम्भेश्वर को बिश्नोई समाज […]

Sarvan Kumar 16/10/2022

उत्तरप्रदेश के महोबे जिले में छतरपुर रोड पर स्थित नईगंवा रेबाई एक प्रतिष्ठित और धनवान  Princely state था जो Bundelkhand Agency के अंतर्गत एक यादव रियासत था. एक समय नईगंवा समस्त Bundelkhand Agency की राजधानी हुआ करती थी। इस राजघराने के वंशज मूलतः महाबली बलराम जी के वंशज माने जाते हैं।  बुंदेलखंड तथा चंबल संभाग […]