Ranjeet Bhartiya 28/04/2020

देश में कोरोना संक्रमण का प्रकोप जारी है. कोरोना महामारी को नियंत्रण करने के लिए की जा रही लॉक डाउन के बीच सोशल मीडिया पर एक ऐसा वीडियो वायरल हुआ है जिससे सामाजिक एकता को चोट पहुंच सकती है. उत्तर प्रदेश के देवरिया जिले के बरहज विधानसभा क्षेत्र से भाजपा के विधायक सुरेश तिवारी ने वायरल वीडियो में कथित तौर पर जिले के लोगों से मुसलमान सब्जी विक्रेताओं से सब्जी नहीं खरीदने के लिए कहा है.
वायरल वीडियो में विधायक सरकारी अधिकारियों के उपस्थिति में लोगों से यह कहते हुए नजर आ रहे हैं,’ एक चीज ध्यान में रखिएगा आप लोग, मैं सबको बोल रहा हूं ओपन में, कोई भी मियां (मुस्लिम) के हाथों सब्जी नहीं लेना है.’

वीडियो के वायरल होने के बाद राजनीतिक पारा गरम हो गया है. राजनीतिक पार्टियों के नेता, बुद्धिजीवी तथा आम लोग विधायक की आलोचना कर रहे हैं. हालांकि इस बयान के बाद विवाद में खुद को फंसता हुआ देखकर विधायक ने सफाई देते हुए कहा, ‘ मैंने केवल अपना विचार रखा है, यह लोगों पर निर्भर करता है कि वह इसे मानते हैं या नहीं. मैंने खबरें सुननी है विशेष समुदाय के लोग सब्जियों पर थूक कर कोरोना संक्रमण को फैलाने का प्रयास कर रहे हैं इसके बाद मैंने लोगों से कहा कि उनसे सब्जियां ना खरीदें. जब कोरोना महामारी समाप्त हो जाए तथा स्थिति सामान्य हो जाए तो वह जो चाहे कर सकते हैं.’

जानकारी के मुताबिक, यह वायरल वीडियो पिछले हफ्ते का है जब विधायक सुरेश तिवारी ने बरहज नगर पालिका के ऑफिस में दौरा किया था. उन्होंने वहां मौजूद लोगों से कहा था कि यह कोई भी देख सकता है कि दिल्ली मरकज से निकले जमात के लोगों ने देश के साथ क्या किया है. बता दें कि दिल्ली में हुए तबलीगी जमात के कार्यक्रम के बाद दिल्ली समेत देश के अन्य भागों में कोरोनावायरस के मामलों में अचानक से तेजी आ गई थी.

पार्टी को विवादों में फंसता देख भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता राकेश त्रिपाठी ने इस बयान की निंदा की है. उन्होंने कहा है कि बीजेपी ऐसे किसी बयान का समर्थन नहीं करती है. मामले का संज्ञान संज्ञान लिया जाएगा तथा विधायक सुरेश तिवारी से पूछा जाएगा कि उन्होंने किन परिस्थितियों में ऐसा बयान दिया.

Leave a Reply