Sarvan Kumar 05/09/2020

इलेक्शन कमीशन द्वारा बिहार विधानसभा चुनाव को लेकर बड़ी घोषणा की गई है. चुनाव आयोग ने स्पष्ट कर दिया है कि बिहार में सारी चुनावी प्रक्रिया 29 नवंबर से पहले पूरी कर ली जाएगी. बिहार विधानसभा के सभी 243 सीटों के साथ ही बाल्मीकि नगर लोक सभा सीट का उपचुनाव भी कराया जाएगा. इतना ही नहीं देश के 64 विधानसभा सीटों पर भी उपचुनाव कराए जाएंगे. ज्ञात हो कि वर्तमान बिहार विधानसभा का कार्यकाल 29 नवंबर को समाप्त हो रहा है.

चुनाव तारीखों की घोषणा के बाद बिहार में सियासी पारा चढ़ने लगा है. सत्ताधारी जनता दल यूनाइटेड 2020 के विधानसभा चुनाव अभियान की शुरुआत 7 दिसंबर को करेगी. बिहार के मुख्यमंत्री और पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष नीतीश कुमार अपने पार्टी की आधिकारिक वेबसाइट jdulive.com के माध्यम से वर्चुअल रैली करेंगे जिसे “निश्चय संवाद” का नाम दिया गया है.

चुनाव से पहले मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने अनुसूचित जाति और जनजाति को एनडीए की ओर खींचने के लिए दलित कार्ड खेला है. नीतीश कुमार ने ऐलान किया है कि अगर अनुसूचित जाति और जनजाति समुदाय के किसी व्यक्ति की हत्या होती है तो उसके परिवार के एक सदस्य को अनुकंपा के आधार पर नौकरी दी जाएगी. उन्होंने अधिकारियों से इसके लिए जल्द कानून बनाने के लिए कहा है.

बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी के महागठबंधन छोड़कर एनडीए में आ जाने के बाद एनडीए के भीतर उथल-पुथल मची हुई है. बताया जा रहा है कि माझी के एनडीए में शामिल होने से भारतीय जनता पार्टी और लोक जनशक्ति पार्टी के रिश्तो में कड़वाहट आ गई है. एनडीए ज्वाइन करते वक्त माझी ने कहा था कि वह बिना शर्त एनडीए में शामिल हो रहे हैं. लेकिन अंदरूनी सूत्रों के मुताबिक “हम पार्टी” ने सात-आठ सीटों पर अपना दावा ठोका है. जिसके कारण एनडीए में सीट बंटवारे का समीकरण बिगड़ता हुआ दिख रहा है और भाजपा और लोजपा के बीच कड़वाहट बढ़ गई है. अटकलें लगाई जा रही कि लोक जनशक्ति पार्टी नीतीश सरकार से समर्थन वापस ले सकती है तथा जनता दल यूनाइटेड के खिलाफ अपने उम्मीदवार उतारने के विकल्प पर विचार कर सकती है.

महागठबंधन के घटक दलों आरजेडी, कांग्रेस, RLSP और वीआईपी के बीच भी सीटों के बंटवारे को लेकर खींचतान जारी है. महागठबंधन की सबसे बड़ी पार्टी राष्ट्रीय जनता दल घटक दलों को ज्यादा सीट देने के मूड में नहीं दिख रही है. इसी बीच राष्ट्रीय लोक समता पार्टी के नेताओं ने राष्ट्रीय जनता दल के कार्यालय में जाकर 48 सीटों पर अपना दावा ठोका है. इसमें से 23 सीटों पर RLSP पिछली बार भी चुनाव लड़ रही थी. वहीं, 25 नए सीटों पर वह इस बार दावा ठोक रही है.

Leave a Reply