Sarvan Kumar 17/08/2018
Jankaritoday.com अब Google News पर। अपनेे जाति के ताजा अपडेट के लिए Subscribe करेेेेेेेेेेेें।
 

Last Updated on 24/08/2020 by Sarvan Kumar

कब और कहाँ हुआ जन्म 

अटल बिहारी वाजपेयी का जन्म ग्वालियर मध्य प्रदेश में एक ब्राह्मण परिवार में 25 दिसंबर 1924 को  हुआ था. उनके पिता पंडित कृष्ण बिहारी वाजपेयी मूलतः उत्तर प्रदेश के आगरा के रहने वाले थे जो मध्य प्रदेश में टीचर थे.

RSS कब ज्वाइन किया

अटल जी स्टूडेंट लाइफ में ही “राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ ज्वाइन कर लिया था.

कब और कहाँ प्राप्त की थी शिक्षा

अटलजी ने BA की शिक्षा ग्वालियर के विक्टोरिया कॉलेज से की थी जो अब लक्ष्मीबाई कॉलेज के नाम  से जाना जाता है . उन्होंने  DAV कॉलेज कानपुर से पोलिटिकल  साइंस में MA किया. उन्होंने LLB में  भी एडमिशन लिया था लेकिन बाद में ड्राप कर लिया था ताकि  फुल टाइम  RSS के लिए काम कर सकें.

अटल बिहारी वाजपेयी का राजनितिक करियर

अटल जी ही एक ऐसा नेता थे जो हर पार्टी में एक्सेप्ट किये जाते थे. सबसे पहली बार वो 16 मई 1996 में प्रधानमंत्री बने थे जो 31 मई से 1996 चली थी,  सिर्फ 13 दिन. दूसरी बार 1998 से 1999 तक प्रधानमंत्री बनाया गए जो 13 महीने चली थी. तीसरी बार उनकी सरकार 4.5 साल तक चली थी और वे 19 मार्च 1998 से 22 मई 2004 तक  प्रधानमंत्री रहे.

उनकी कई हॉबी थी

उन्हें पढ़ना, मूवी देखना, घूमना, कुकिंग और खाने का शौक था.

अटलजी की कविताये काफी प्रसिद्ध है

आजादी की लड़ाई में भी भाग लिया था

अटल जी आजादी की लड़ाई में सक्रिय थे और 1942 में जेल भी गए थे.अटल जी RSS में एक्टिव मेंबर  थे और भारतीय जनसंघ के फाउंडर मेंबर थे. वे 1968 से 1973 तक इसके प्रेजिडेंट भी रहे.

पहली बार लोकसभा इलेक्शन कब जीते थे

अटलजी ने सबसे पहली बार 1955 में लोकसभा के लिए चुनाव लड़ा था जिसमे वो हार गए थे. उन्होंने हिम्मत नहीं हारी और 1957 में उत्तर प्रदेश के गोंडा जिले के बलरामपुर से लोकसभा पहुँच गए.

वो विदेशमंत्री भी बने 

1977 से लेकर 1979 तक मोरारजी  गवर्नमेंट में विदेश मंत्री भी रहे.

कब हुआ भारतीय जनता पार्टी का जन्म

1980 में जनता पार्टी अलायन्स से असंतुस्ट होकर 6 अप्रैल को भारतीय जनता पार्टी (BJP) का गठन  किया.

राज्यसभा के लिए भी हुए थे मनोनीत

वो दो बार राज्यसभा के लिए भी चुने गए थे . जब बीजेपी ने  2004 में अटल जी के लीडरशिप में  India  Shinning  स्लोगन पर  चुनाव लड़ा था तो वो वोटर को इम्प्रेस नहीं कर पाए थे  और हार का मुँह देखना पड़ा था.

Advertisement
Shopping With us and Get Heavy Discount Click Here
 
Disclaimer: Is content में दी गई जानकारी Internet sources, Digital News papers, Books और विभिन्न धर्म ग्रंथो के आधार पर ली गई है. Content  को अपने बुद्धी विवेक से समझे। jankaritoday.com, content में लिखी सत्यता को प्रमाणित नही करता। अगर आपको कोई आपत्ति है तो हमें लिखें , ताकि हम सुधार कर सके। हमारा Mail ID है jankaritoday@gmail.com. अगर आपको हमारा कंटेंट पसंद आता है तो कमेंट करें, लाइक करें और शेयर करें। धन्यवाद Read Legal Disclaimer 
 

Leave a Reply