Sarvan Kumar 05/03/2021

समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष और उत्तर प्रदेश के भूतपूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने बृहस्पतिवार को दावा किया है कि उत्तर प्रदेश के आगामी विधानसभा चुनाव में समाजवादी पार्टी 350 से ज्यादा सीटें जीत कर सरकार बनाएगी. उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी इतने बड़े अंतर से हारेगी, जिसकी कल्पना भी किसी को नहीं होगी.

पत्रकारों से बातचीत करने के दौरान इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन पर पूछे गए एक सवाल का जवाब देते हुए अखिलेश यादव ने कहा,’ मैं आज भी कह रहा हूं EVM पर किसी को भरोसा नहीं है. हाल में ही अमेरिका में चुनाव बैलेट पेपर से हुआ है. उसमें भी कई दिनों तक वोट काउंटिंग हुई. मतपत्रों से चुनाव कराने पर लोगों का भरोसा फिर से कायम होगा. हालांकि यह लड़ाई अभी नहीं लड़ी जा सकती.’
उन्होंने कहा कि हम प्रशिक्षण शिविर चला रहे हैं. समाजवादी पार्टी से जुड़े सभी लोग अगर अपना वोट डाल देंगे तो भारतीय जनता पार्टी अपने आप हार जाएगी. सत्ता में आने के बाद समाजवादी पार्टी इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन की व्यवस्था को समाप्त करने के लिए अभियान चलाएगी.

2022 में होने वाले उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के लिए गंभीर अखिलेश यादव कृषि कानूनों को लेकर चल रहे आंदोलन के माध्यम से किसानों के बीच जाकर अपनी पकड़ को मजबूत बनाने की कोशिश कर रहे हैं. इसी कड़ी में आज अखिलेश यादव आज पश्चिमी उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ में समाजवादी पार्टी की किसान महापंचायत में शामिल होंगे. बता देंगे अखिलेश यादव से पहले कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल भी पश्चिमी उत्तर प्रदेश में किसान महापंचायत कर किसानों को अपने पाले में लेने का प्रयास कर रहे हैं.

2022 विधानसभा चुनाव को लेकर अखिलेश यादव अभी से सियासी गठबंधन बनाने में जुट गए हैं. हालांकि उन्होंने स्पष्ट कर दिया है कि उनकी पार्टी किसी बड़े दल के साथ गठबंधन करने के बजाए छोटे दलों के साथ गठबंधन करेगी. 2022 विधानसभा चुनाव के लिए अखिलेश यादव ने जनवादी पार्टी, आरएलडी और महान दल के साथ मिलकर चुनाव लड़ने का ऐलान किया है.

बता देगी आजमगढ़ के टप्पल में समाजवादी पार्टी किसान महापंचायत की सभी तैयारियां पूरी हो चुकी है. समाजवादी पार्टी के जिला अध्यक्ष गिरीश यादव ने बताया है कि इस किसान महापंचायत में 20,000 से अधिक किसानों के भाग लेने की संभावना है. इस कार्यक्रम के लिए दो मंच बनाए गए हैं एक मंच पर पार्टी के स्थानीय पदाधिकारियों नेता गन मौजूद रहेंगे वही दूसरे मंच से अखिलेश यादव किसानों को संबोधित करेंगे. किसान महापंचायत में सभी धर्मों के धर्म और जातियों के एक-एक किसान प्रतिनिधि को सम्मानित किया जाएगा. किसान महापंचायत 12:30 बजे से शुरू होगी.

Leave a Reply