Sarvan Kumar 16/01/2021

Jankaritoday.com अब Google News पर। अपनेे जाति के ताजा अपडेट के लिए Subscribe करेेेेेेेेेेेें।
  ना जियो धर्म के नाम पर ना मरो धर्म के नाम पर इंसानियत ही है धर्म वतन का बस जियो वतन के नाम पर गणतंत्र दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं!🇮🇳🇮🇳🇮🇳

Last Updated on 30/01/2021 by Sarvan Kumar

हिन्दू धर्म दुनिया का तीसरा सबसे बड़ा धर्म है। आज हिन्दू धर्म को मानने वाले लोग 90 करोड़ से भी ऊपर हैं। दुनिया में कई धर्म है जैसे क्रिसचन, मुस्लिम, बौद्ध, जैन, सिक्ख इत्यादि।अगर आपसे कोई पूछे की क्रिसचन या मुस्लिम, बौद्ध और दूसरे धर्म कितना पुराना है तो आप तुरंत उसका उत्तर दे देंगे। लेकिन यह पूछने पर कि हिन्दू धर्म कितना पुराना है इसका उत्तर आप नहीं दे पाएंगे। हिन्दू कौन है, इसकी स्थापना किसने की, यह कितना पुराना है? ऐसे कई प्रश्न हैं जिसका जबाब देना काफी मुश्किल काम है।

हिन्दू धर्म कितना पुराना है?

भगवान शिव

इस धर्म का कोई विशिष्ट संस्थापक नहीं होने के कारण इसका उत्पति और इतिहास पता करना काफी मुश्किल है। हिन्दू धर्म अपने आप में एक अनोखा धर्म है यह कोई एक धर्म नहीं है, यह कई मत-मतांतरो और सिद्धांतों का संग्रह है। कई विद्वानों का मानना है कि हिन्दुइस्म की शुरुआत कुछ 2500- 1500 BC के बीच हुई थी। लेकिन कई हिन्दू मानते हैं कि यह अनन्त काल से है और यह धरती पर हमेशा से थी। आइये जानते हैं रामायण, महाभारत, वेद, पुराण, और भगवान राम, कृष्ण के जन्म के आधार पर कितना पुराना है हिन्दू धर्म?

रामायण ग्रंथ के आधार पर हिन्दू धर्म कितना पुराना है?

रामायण की रचना भगवान राम से संबंधित है। हिन्दू धर्म में चार युग कहा गया है। भगवान राम त्रेता युग में पैदा लिए थे, इसके पहले सतयुग बीत चुका था। अभी कलयुग चल रहा है जो द्वापर युग के खत्म होने पर शुरू हुआ था। हिन्दू धर्मं ग्रंथ में  सतयुग लगभग 17 लाख 28 हजार वर्ष, त्रेतायुग 12 लाख 96 हजार वर्ष, द्वापर युग 8 लाख 64 हजार वर्ष और कलियुग 4 लाख 32 हजार वर्ष का बताया गया है। चार युगों का मिलाकर एक महायुग होता है इस आधार पर हिन्दू धर्म लाखों करोड़ों साल पुराना है।
अगर रामायण की बात करें तो भगवान राम का जन्म आज से 5114 वर्ष पहले हुआ था। यह माना जा सकता है कि हिन्दू धर्म इतना ही पुराना हो।

महाभारत के आधार पर हिन्दू धर्म कितना पुराना है

महाभारत युद्ध के बारे में कौन नहीं जानता, इस युद्ध में लाखों लोग मारे गये थे। इस युद्ध में निर्णायक भूमिका निभा रहे थे भगवान श्रीकृष्ण। भगवान श्रीकृष्ण का जन्म द्वापर युग में आज से 3112 ईसा पूर्व हुआ था। गीता का संरचना इसी महाभारत युद्ध के कारण हुआ था। श्रीकृष्ण के जन्म के आधार पर हिन्दू धर्म 3112 ईसा पूर्व माना जा सकता है।

विश्व के अलग-अलग इलाकों से हिन्दू धर्म से जुड़ी कई चीजें खुदाई में मिली है। यह माना जा सकता है कि एक समय धरती पर सिर्फ हिन्दू लोग ही रहते थे। हिन्दू धर्म को सारे धर्मो का जननी कहा जा सकता है। जैसे -जैसे धर्म गुरुओं ने जन्म लिया वैसे -वैैैसे लोग दूूूसरे धर्मो के अनुयायी होते गए  और हिन्दूओं का दायरा संकुचित होता गया।

जानें हिन्दू धर्म की शिक्षाएं, क्यों हिन्दू धर्म है विश्व का महान धर्म ?

Shop At Amazon and get heavy Discount Disclaimer: Is content में दी गई जानकारी Internet sources, Digital News papers, Books और विभिन्न धर्म ग्रंथो के आधार पर ली गई है. Content  को अपने बुद्धी विवेक से समझे। jankaritoday.com, content में लिखी सत्यता को प्रमाणित नही करता। अगर आपको कोई आपत्ति है तो हमें लिखें , ताकि हम सुधार कर सके। हमारा Mail ID है jankaritoday@gmail.com. अगर आपको हमारा कंटेंट पसंद आता है तो कमेंट करें, लाइक करें और शेयर करें। धन्यवाद

Leave a Reply