Ranjeet Bhartiya 15/04/2020

Last Updated on 15/04/2020 by Sarvan Kumar

उत्तर प्रदेश के मुरादाबाद जिले में कोरोना के 19 नए मामले सामने आए हैं. इनमें से 17 संक्रमितों का संबंध तबलीगी जमात से है. इन्हीं में से एक व्यक्ति की मौत हो गई है. जानकारी मिलने के बाद जब मेडिकल टीम संक्रमित के परिवार वालों को क्वॉरेंटाइन सेंटर ले जाने के लिए आई तो हाजी नेब की मस्जिद इलाके में उन पर हमला और पत्थरबाजी किया गया है. जमातीयों के परिवार वालों और समर्थकों ने मेडिकल टीम पर हमला करके एंबुलेंस तोड़ दिया तथा डॉक्टरों को लहूलुहान कर दिया. डॉक्टर्स किसी तरह से जान बचाकर भागने में सफल रहे.

जानकारी के मुताबिक, मुरादाबाद के 19 लोगों में कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई है. जिसमें से 17 लोगों का संबंध मार्च के महीने में दिल्ली के निजामुद्दीन में हुए तबलीगी जमात के मजहबी जलसे से है. मुरादाबाद जिले से 53 कोरोना संदिग्धों के सैंपल जांच के लिए अलीगढ़ और लखनऊ भेजे गए थे. इसमें से 13 अप्रैल को आई जांच रिपोर्ट में 19 लोगों को कोरोनावायरस पाया गया है. सभी कोरोना पीड़ितों को एमआइटी क्वॉरंटीन सेंटर मैं रखा गया है.

इन्हीं कोरोना मरीजों में से एक सरताज अली की मौत हो गई है. मृतक मुरादाबाद के नवाबपुरा इलाके के निवासी थे. कोरोना की पुष्टि होने के बाद उन्हें टीएमयू मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया गया था. 49 साल के सरताज अली कोरोना संबंधित लक्षण दिखने के बाद 7 अप्रैल को खुद ही अस्पताल पहुंचे थे. लेकिन उन्हें बचाया नहीं जा सका. बीते सोमवार 13 अप्रैल को 9:00 बजे उन्होंने दम तोड़ दिया. यह कोरोनावायरस से मुरादाबाद जिले में पहली मौत है.

एक साथ जिले में 19 कोरोना पीड़ितों की पुष्टि होने के कारण स्थानीय प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग भी सकते में है. स्थानीय प्रशासन नए सिरे से जिला निवासियों को कोरोना से सुरक्षित रखने की प्लानिंग में जुट गया है.

"चाहे हम किसी देश, किसी क्षेत्र में रह रहे हो ऑनलाइन शॉपिंग ने  दुनिया भर के दुकानदारों को हमारे कंप्यूटर में ला दिया है। अगर हमें कोई चीज पसंद नहीं आती है तो उसे हम तुरंत ही लौटा भी सकते हैं। काफी मेहनत और Research करने के बाद  हम लाएं है आपके लिए Best Deal Online.

"

Leave a Reply