Sarvan Kumar 28/05/2018
जाट गायक सिद्धू मूसेवाला आज हमारे बीच नहीं है पर उनकी याद हमारे दिलों में हमेशा बनी रहेगी। अपने गानों के माध्यम से वह अमर हो गए हैं । सिद्धू मूसेवाला की 29 मई को मानसा जिले में उनके घर से कुछ किलोमीटर दूर ही गोली मारकर हत्या कर दी गई थी. हत्या किसने और किस वजह से की यह तो जांच के बाद ही पता चल पाएगा लेकिन हमने जाट समाज का एक अनमोल रत्न खो दिया है। उनके फैंस पर गमों का पहाड़ टूट पड़ा है। jankaritoday.com की टीम के तरफ से उनको एक सच्ची श्रद्धांजलि! Jankaritoday.com अब Google News पर। अपनेे जाति के ताजा अपडेट के लिए Subscribe करेेेेेेेेेेेें।
 

Last Updated on 17/04/2020 by Sarvan Kumar

निपाह वायरस से अब तक 14 मौतें हो चुकी हैं. केरल से एक्सपोर्ट होने वाले फल और सब्जियों पर बैन लगा दिया गया है .यूएई  और बहरीन ने फलों और सब्जियों के आयात पर रोक लगा दी है. केरल में लगातार निपाह वायरस का खतरा बना हुआ है. निपाह वायरस से अबतक 14 मौतें हो चुकी हैं. WHO का कहना है कि यह वायरस चमगादड़ की लार, यूरीन और मलमूत्र से फैलता है. विशेषकर उन फलों के जरिए जिसे चमगादड़ अक्सर पेड़ पर चखते हैं. मुख्यतः यह ग्रेटर इंडियन फ्रूट बैट हैं, जो दक्षिण एशिया में प्रचुर मात्रा में हैं, जिसमें निपाह वायरस होता है.

केरल में निपाह वायरस के चलते हुई मौत कोई पहली घटना नहीं है. इससे पहले भी दो बार पश्चिम बंगाल में निपाह वायरस का अटैक हो चुका है. 2001 सिलीगुड़ी में निपाह वायरस का खतरा मंडराया था वहीं  2007 नादिया में निपाह वायरस का अटैक हुआ था. इस बार यह देश के दक्षिण राज्य में पहुंचा है जहां कोझीकोड़ में एक ही परिवार के लोगों में यह पाया गया.

इन फलों को किया गया बैन

निपाह वायरस के कारण भारत के एक्सपोर्ट पर सबसे बड़ा खतरा मंडरा रहा है. जानकारी के मुताबिक निपाह वायरस के खतरे को देखते हुए यूनाइटेड अरब एमिरेट्स (यूएई) और बहरीन ने केरल से एक्सपोर्ट होने वाले फलों और सब्जियों को बैन कर दिया है. निपाह वायरस का खतरा देखते हुए जिन फलों को बैन किया गया उनमें केला, आम, अंगूर हैं. इसके अलावा खजूर के एक्सपोर्ट पर भी रोक है. इसके अलावा सब्जियां भी बैन की गई हैं. निपाह वायरस की वजह से एक्सपोर्ट पर होने वाले नुकसान पर वाणिज्य मंत्रालय नजर रख रहा है. वाणिज्य मंत्रालय के मुताबिक, अगर हालात नहीं सुधरते तो एजेंसियों को इससे निपटने के लिए कहना होगा.

कितना होता है फलों का एक्सपोर्ट

एग्रीकल्चर और प्रोसेस्ड फूड प्रोडक्ट एक्सपोर्ट डेवलपमेंट अथॉरिटी (APEDA) के मुताबिक, पिछले साल भारत से कुल 4448.08 करोड़ के फल एक्सपोर्ट किए गए थे. इसमें ज्यादातर आम, अंगूर, केला और अनार शामिल हैं. भारत सबसे बड़ा केला उत्पादक देश है, यहां 26.04% केला पैदा होता है वहीं, 44.51% पपीता और 40.75% आम पैदा होता है. जानकारी के मुताबिक, पिछले साल भारत से आम का एक्सपोर्ट 52761 टन पहुंच था.

कहां होता है सबसे ज्यादा एक्सपोर्ट

APEDA के मुताबिक, भारत से जिन देश में सबसे ज्यादा फल और सब्जियां एक्सपोर्ट होती हैं उनमें UAE, बांग्लादेश, मलेशिया, नीदरलैंड, श्रीलंका, नेपाल, UK, सऊदी अरब, पाकिस्तान और कतर हैं.

 

Advertisement
Disclaimer: Is content में दी गई जानकारी Internet sources, Digital News papers, Books और विभिन्न धर्म ग्रंथो के आधार पर ली गई है. Content  को अपने बुद्धी विवेक से समझे। jankaritoday.com, content में लिखी सत्यता को प्रमाणित नही करता। अगर आपको कोई आपत्ति है तो हमें लिखें , ताकि हम सुधार कर सके। हमारा Mail ID है jankaritoday@gmail.com. अगर आपको हमारा कंटेंट पसंद आता है तो कमेंट करें, लाइक करें और शेयर करें। धन्यवाद

Leave a Reply