Sarvan Kumar 02/08/2020

बिहार समस्तीपुर: खानपुर प्रखंड क्षेत्र के बसंतपुर गांव के निकट सुबह करीब 9 बजे सुअर की मांद होकर काफी मात्रा में जल रिसाव होने लगा। जल रिसाव की खबर मिलते ही काफी संख्या में लोग जुट गए। काफी मशक्कत के बाद स्थानीय ग्रामीणों  ने प्रलयकारी घटना को बचाने में सफल हुए । खानपुर प्रखंड क्षेत्र में अफरातफरी का  महौल कायम हो गया, हो भी क्यों नही आँखो के सामने घर द्वार जलमग्न जो होने  जा रहा था। जल रिसाव की इस घटना का जिम्मेदार प्रशाशन है। संकट की इस घड़ी में भी तटबन्ध सुरक्षा का कोई पुख्ता व्यवस्था नही देखा जा रहा है। सुरक्षा व्यवस्था के नाम पर प्रशाशन व ठेकेदार के मिली भगत से केवल खाना पूर्ति कर सरकारी धन राशि की जम कर लूट खसोट की जा रही है।

ठेकेदार की मनमानी इतनी है कि बोरे में मिट्टी भराई की कोई व्यवस्था नही है। ठेकेदार का रात्री में सुरक्षा के नाम पर जेनरेटर केवल दिखावा है। जब  विद्युत  है तो बल्ब जलती है नही तो अंधेरे में लोग टार्च की रौशनी से सुरक्षा करते है। स्थानीय लोग डॉ चंद्र भूषण कुमार को दुआ देते है जो विगत 5 दिनों से अपने निजी खर्च कर मंगल हाट से कोठिया गांव तक जेनरेटर चलाकर रौशनी के साथ नास्ता का भी प्रबंध कर रखा है। बूढ़ी गंडक नदी के तटबंध का कुछ जगह जर्जर हो चुका है। एकाएक पानी का बहुत ही अधिक दबाब बन गया। शोभन, मंगलहाट और बसंतपुर गांव से सटे तटबंध में  पानी के दबाव के कारण जल रिसाव होता है। तटबन्ध सुरक्षा में जुटे सरकारी तंत्र की खानपुर में पोल खुल रही है। जिला पार्षद ने जिला प्रशाशन से उचित प्रबन्धन की मांग की है।

Leave a Reply