Sarvan Kumar 02/05/2020

सोशल मीडिया पर पर दिए गए भड़काऊ बयान का संज्ञान लेते हुए दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने 30 अप्रैल (गुरुवार) को दिल्ली अल्पसंख्यक आयोग के चेयरमैन जफरुल इस्लाम खान के खिलाफ देशद्रोह कानून के अंतर्गत मामला दर्ज किया है. स्पेशल सेल के जॉइंट आयुक्त नीरज ठाकुर ने बताया है कि जफरुल इस्लाम खान के खिलाफ भारतीय आचार संहिता (IPC) की धारा 124a (देशद्रोह) तथा धर्म, जाति, भाषा, जन्म और स्थान के आधार पर दो समुदायों के खिलाफ आपसी द्वेष बढ़ाने तथा सौहार्द बिगाड़ने 153A के तहत मुकदमा में दर्ज किया गया है.

बता दें कि 28 अप्रैल को दिल्ली अल्पसंख्यक आयोग के अध्यक्ष जफरुल इस्लाम खान ने एक भड़काऊ पोस्ट लिखकर धमकी दिया था कि भारत में मुसलमानों पर अत्याचार किया जा रहा है तथा अरब देश इसका विरोध कर रहे हैं. अगर भारतीय मुसलमानों ने अरब देशों से शिकायत कर दिया तो भारत में जलजला आ जाएगा.

जफरुल इस्लाम खान ने फेसबुक पोस्ट में कुवैत को धन्यवाद देते हुए लिखा, ‘भारतीय मुसलमानों के साथ खड़े होने के लिए कुवैत को धन्यवाद. भारत के कट्टर हिंदुओं को लग रहा था कि ने अरब और मुस्लिम देश आर्थिक हितों क्या ध्यान रखते हुए भारत के मुसलमानों के उत्पीड़न की परवाह नहीं करेंगे. लेकिन हिंदू कट्टरपंथी भूल गए भारत के मुसलमानों ने सदियों से पूरी सद्भावना के साथ इस्लाम की सेवा की है, जिसके कारण भारत के मुसलमानों का अरब और मुस्लिम दुनिया में जबरदस्त लोकप्रियता है. शाह वहीउल्लाह देहलवी, इकबाल, अब्दुल हसन नदवी, वहीदुद्दीन खान और जाकिर नायक जैसे इस्लामिक विद्वानों ने विश्व विरासत में अपना सांस्कृतिक योगदान दिया है, जिसके कारण मुस्लिम देशों के हर घर में उनको सम्मान दिया जाता है.
जफरुल इस्लाम खान ने आगे लिखा, ‘अरे कट्टरपंथियों भारत के मुसलमानों ने अभी तक अरब और मुस्लिम देशों से शिकायत नहीं की है, लेकिन जिस दिन हम अरब देशों से शिकायत करने को मजबूर हो गए जलजला आ जाएगा.’

इस जहरीले भड़काऊ बयान के बाद सोशल मीडिया पर राजनीतिक दल के नेताओं के साथ-साथ आम लोगों ने भी जफर उल इस्लाम के खिलाफ कठोर कार्यवाही करने की मांग उठाई है. खुद को विवादों में फंसता देख जफरुल इस्लाम खान ने एक अन्य पोस्ट लिखकर माफी मांगी है, जिसमें उन्होंने कहा है कि उनका वह बयान और असंवेदनशील तथा गलत समय पर दिया गया था, जिसके कारण कुछ लोगों को ठेस पहुंचा है. उन्होंने आगे कहा कि उनका ऐसा कोई इरादा नहीं था. साथ ही खान ने मीडिया पर उनके बयान को तोड़ मरोड़ कर पेश करने का आरोप गाते हुए कहा है कि लगाया है तथा कुछ न्यूज़ चैनलों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई की धमकी भी दी है.

Leave a Reply