Sarvan Kumar 08/06/2020

लखनऊ: उत्तर प्रदेश एंटी टेरेरिस्ट स्क्वाड (ATS) ने बड़ी कामयाबी हासिल करते हुए खालिस्तानी आतंकवादियों को हथियार और गोला-बारूद सप्लाई करने के मामले में एक व्यक्ति को हापुड़ से गिरफ्तार किया है. आरोपी जावेद मेरठ का रहने वाला है. फिलहाल पुलिस आरोपी से पूछताछ में जुटी है. जावेद के खिलाफ उत्तर प्रदेश के मेरठ तथा मोहाली में लूट, हत्या के प्रयास तथा आर्म्स एक्ट के तहत कई मामले दर्ज हैं.

रविवार को उत्तर प्रदेश एटीएस के हत्थे चढ़ा जावेद से पंजाब के कई गैंगस्टरों के संबंध हैं. एटीएस ने बीते बुधवार को एक हथियार तस्कर को पकड़ा था. उससे पूछताछ के आधार पर जावेद की गिरफ्तारी हुई है. कहा जा रहा कि जावेद ने ही 2016 में संघ नेता के हत्या के लिए पॉइंट 32 बोर की पिस्टल सप्लाई किया था. एंटी टेरर स्क्वाड के सूत्रों के मुताबिक जावेद पंजाब के अमृतसर में 35 से ज्यादा अवैध हथियार सप्लाई कर चुका है.

एंटी टेरर स्क्वाड के अपर महानिदेशक ध्रुव कांत ठाकुर ने जानकारी देते हुए बताया है कि हथियार तस्कर जावेद मेरठ के किठौर का रहने वाला है. पंजाब पुलिस इसे लंबे समय से तलाश रही थी. 2016 में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के पंजाब प्रांत के उप प्रमुख ब्रिगेडियर जगदीश कुमार गगनेजा (सेवानिवृत्त) की हत्या कर दी गई थी. पुलिस का कहना है कि इस हत्या में खालिस्तानी आतंकी धर्मिदर सिंह गुगनी का हाथ था. इस हत्याकांड के लिए गुगनी को हथियार जावेद ने ने ही सप्लाई किया था. गुगनी खालिस्तान लिबरेशन फ्रंट का एक्टिव मेंबर है, जो फिलहाल तिहाड़ जेल में बंद है. इस मामले की जांच एनआईए कर रही है.

दरअसल पंजाब पुलिस ने कुछ खालिस्तानी आतंकियों को पकड़ा था. पूछताछ के दौरान खालिस्तानी आतंकियों ने बताया कि मेरठ का रहने वाला जावेद उन्हें हथियार सप्लाई करता है. जिसके बाद पंजाब पुलिस जावेद के तलाश में जुट गई थी. पंजाब पुलिस से मिली जानकारी के आधार पर उत्तर प्रदेश एटीएस ने जावेद को गिरफ्तार करके यह जानकारी पंजाब पुलिस को भी दे दिया है.
बता दें कि उत्तर प्रदेश एटीएस ने हापुड़ पुलिस के साथ साझा ऑपरेशन में जावेद को हापुड़ के थाना देहात के गढ़ रोड से गिरफ्तार किया है. जानकारी के अनुसार, जावेद को गिरफ्तार करने के लिए गए की गई छापामारी के दौरान हंगामे और टकराव जैसी हालात बन गई थी. पुलिस से बचने के लिए जावेद मार्बल के गोदाम में छिपा हुआ था.

Leave a Reply