Sarvan Kumar 12/07/2020
जाट गायक सिद्धू मूसेवाला आज हमारे बीच नहीं है पर उनकी याद हमारे दिलों में हमेशा बनी रहेगी। अपने गानों के माध्यम से वह अमर हो गए हैं । सिद्धू मूसेवाला की 29 मई को मानसा जिले में उनके घर से कुछ किलोमीटर दूर ही गोली मारकर हत्या कर दी गई थी. हत्या किसने और किस वजह से की यह तो जांच के बाद ही पता चल पाएगा लेकिन हमने जाट समाज का एक अनमोल रत्न खो दिया है। उनके फैंस पर गमों का पहाड़ टूट पड़ा है। jankaritoday.com की टीम के तरफ से उनको एक सच्ची श्रद्धांजलि! Jankaritoday.com अब Google News पर। अपनेे जाति के ताजा अपडेट के लिए Subscribe करेेेेेेेेेेेें।
 

Last Updated on 12/07/2020 by Sarvan Kumar

सुशांत सिंह राजपूत के कथित आत्महत्या पर सलमान खान, आमिर खान और शाहरुख खान चुप क्यों हैं, इनके दुबई की संपत्तियों की जांच होनी चाहिए: सुब्रमण्यम स्वामी

सुशांत सिंह राजपूत के कथित आत्महत्या मामले में सीबीआई जांच की मांग लगातार की जा रही है. सुशांत के प्रशंसक उनकी मौत के 1 महीने बाद भी उन्हें नहीं भुला पा रहे हैं. सुशांत की आत्महत्या पर लोग अभी भी सवाल उठा रहे हैं. लोगों के मन में सबसे बड़ा सवाल यह है कि सुशांत सिंह ने आत्महत्या किया या उनकी हत्या हुई या फिर किसी ने उन्हें आत्महत्या के लिए मजबूर किया? सुशांत के कथित आत्महत्या मामले में लोग चाहते हैं कि सीबीआई जांच हो ताकि सच्चाई सबके सामने आए. इसी क्रम में अब बीजेपी नेता और राज्यसभा के सांसद सुब्रमण्यम स्वामी ने सुशांत की आत्महत्या की सीबीआई जांच कराने की मांग की है.

सुब्रमण्यम स्वामी ने सुशांत सिंह राजपूत के कथित आत्महत्या पर बॉलीवुड के तीन खान यानी सलमान खान, शाहरुख खान और आमिर खान की चुप्पी पर भी सवाल उठाए हैं. स्वामी ने ट्वीट किया है कि सुशांत के आत्महत्या पर बॉलीवुड के तीन ताकतवर खान सलमान खान, शाहरुख खान और आमिर खान खामोश क्यों हैं? एक दूसरे ट्वीट में सुब्रमण्यम स्वामी ने तीनों खानों के दुबई स्थित संपत्ति की जांच कराने की मांग की है. उन्होंने कहा है कि तीनों खान की विदेश में स्थित संपत्तियों विशेषकर दुबई में स्थित संपत्ति की जांच होनी चाहिए. वे कौन लोग हैं जिन्होंने इन्हें बांग्ला और प्रॉपर्टी गिफ्ट किया है? उन्होंने कैसे इन्हें खरीदा है? इस मामले की जांच प्रवर्तन निदेशालय के एसआईटी, आयकर विभाग तथा सीबीआई द्वारा करानी चाहिए. क्या ये लोग कानून से ऊपर हैं?

सुब्रमण्यम स्वामी ने इससे पहले अपने आधिकारिक ट्विटर अकाउंट पर अधिवक्ता इशकरण सिंह भंडारी के साथ एक लंबा वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग का वीडियो जारी किया है. वीडियो जारी करते हुए शुक्रवार को सुब्रमण्यम स्वामी ने लिखा था कि फिलहाल इशकरण सिंह भंडारी यह पता लगाने की कोशिश कर रहे हैं क्या इस मामले में धारा 21 के साथ-साथ इंडियन पेनल कोड के सेक्शन 304 और 308 लागू होते हैं. बिना जांच के क्या यह स्वीकार करना सही है कि सुशांत सिंह की मौत एक आत्महत्या थी या फिर अभिनेता को ऐसा करने के लिए मजबूर किया गया था. इशकरण सिंह भंडारी वीडियो में साफ कहते दिख रहे हैं कि यह सुसाइड का केस है या फिर मर्डर का दोनों परिस्थितियों में यह मामला सीबीआई के पास जाना चाहिए. यह तो सबूत देखकर ही पता चलेगा.

इस मामले में आगे बात करते हुए सुब्रमण्यम स्वामी ने कहा कि मान लीजिए यह सुसाइड का केस है लेकिन क्या पुलिस ने जांच किया की किसी ने उसे यह करने के लिए प्रेरित किया? इस मामले में बहुत सारे संदेब हैं. श्रीदेवी की तरह यह मामला विदेश में घटित होता तो और बात थी. हम वहां कुछ नहीं कर सकते थे लेकिन यह तो हमारे देश में हुआ है. हमारा देश लोकतांत्रिक देश है ना की राजा-महाराजाओं का देश. एक पारंपरिक लोकतांत्रिक देश मैं लोग जहां से घबरा रहे हैं, यह भी एक बड़ा कारण लगता कि इस मामले की सीबीआई जांच होनी चाहिए.

सुब्रमण्यम स्वामी ने जैसे ही सुशांत सिंह राजपूत के कथित आत्महत्या मामले में तीनों खानों की खामोशी पर सवाल उठाए तथा सीबीआई जांच की मांग की ट्विटर यूजर्स भी उनके समर्थन में भारी संख्या में उतर आए हैं. कई टि्वटर यूजर्स अमिताभ बच्चन, अक्षय कुमार और अजय देवगन जैसे बड़े नामों की चुप्पी पर उनकी खुलकर आलोचना करने लगे हैं और कह रहे हैं कि जब संजय दत्त जेल गए थे तो सभी बॉलीवुड के स्टार उनके सपोर्ट में उतर गए थे, लेकिन सुशांत सिंह राजपूत पर कोई नहीं कुछ बोलता है, लानत है पूरी बॉलीवुड गैंग पर.

बता दें कि बॉलीवुड के उभरते हुए सितारे सुशांत सिंह राजपूत ने 14 जून को मुंबई के बांद्रा स्थित अपने घर में फांसी लगाकर खुदकुशी कर लिया था. बहरहाल पुलिस इस मामले की छानबीन कर रही है और अब तक 34 लोगों के बयान दर्ज किए जा चुके हैं. पुलिस इस मामले में प्रोफेशनल प्रतिस्पर्धा तथा बॉलीवुड में व्याप्त भाई भतीजावाद नेपोटिज्म के एंगल की भी जांच कर रही है.

Advertisement
Disclaimer: Is content में दी गई जानकारी Internet sources, Digital News papers, Books और विभिन्न धर्म ग्रंथो के आधार पर ली गई है. Content  को अपने बुद्धी विवेक से समझे। jankaritoday.com, content में लिखी सत्यता को प्रमाणित नही करता। अगर आपको कोई आपत्ति है तो हमें लिखें , ताकि हम सुधार कर सके। हमारा Mail ID है jankaritoday@gmail.com. अगर आपको हमारा कंटेंट पसंद आता है तो कमेंट करें, लाइक करें और शेयर करें। धन्यवाद

Leave a Reply