Ranjeet Bhartiya

Ranjeet Bhartiya 15/06/2022

राजावत (Rajawat) कछवाहा वंश की एक उपशाखा है. कछवाहा (Kachhwaha) वंश का संबंध अयोध्या के सूर्यवंशी इक्ष्वाकु (Ikshvaku) वंश से है. रामायण और महाभारत जैसे प्राचीन ग्रंथों में इक्ष्वाकु वंश के प्रसिद्ध शासकों का उल्लेख मिलता है. इस वंश में एक से बढ़कर एक प्रतापी राजाओं ने जन्म लिया, जैसे -परम प्रतापी राजा इक्ष्वाकु, जिनके […]

Ranjeet Bhartiya 12/06/2022

आमेर रियासत का संबंध कछवाहा राजवंश से है. आमेर/जयपुर इंडिया कंपनी के शासन के दौरान और उसके बाद ब्रिटिश राज के तहत भारत में एक प्रसिद्ध रियासत थी. कछवाहा राजवंश की स्थापना दूल्हे राय (तेजकरण) ने 1137 ई. में किया था. कछवाहा वंश में अनेक प्रसिद्ध शासक हुए. स्वतंत्रता के बाद जयपुर रियासत भारत में […]

Ranjeet Bhartiya 11/06/2022

राजधानी किसी राज्य के राज्य का शासन केंद्र होता है. आइए जानते हैं कछवाहा वंश के राजधानियों के बारे में- राजस्थान के उत्तर पूर्व में कभी ढूंढ नाम की नदी बहा करती थी. यही कारण है कि जयपुर-सीकर के आसपास के क्षेत्र को ढूंढाड़ प्रदेश के नाम से जाना जाता है. ढूंढाड़ प्रदेश पर कछवाहा राजवंश […]

Ranjeet Bhartiya 10/06/2022

भगवान विष्णु के अवतार और अयोध्या के राजा श्री रामचंद्र के पुत्र कुश के वंशज नरवर के राजा सोढ़ा सिंह के पुत्र दूल्हे राय ने 1137 ईस्वी में तत्कालीन ढूंढाड़ प्रदेश (रामगढ़) में मीणाओं को हराकर तथा बाद में दौसा के बड़गुर्जरों को पराजित करके कछवाहा राजवंश की स्थापना की थी. दौसा को कछवाहा राजवंश […]

Ranjeet Bhartiya 06/06/2022

यादव जाति में कई प्रसिद्ध लोगों ने जन्म लिया है. स्वतंत्रता संग्राम में इस जाति के लोगों ने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी. राष्ट्र निर्माण में यादवों की महत्वपूर्ण भूमिका रही है. यादवों ने शिक्षा, साहित्य, सैन्य सेवा, कला, लोक संगीत, खेल, फिल्म और टेलीविजन आदि क्षेत्रों में अपना बहुमूल्य योगदान देकर ना केवल अपनी जाति […]