Sarvan Kumar 13/11/2021

नरेंद्र मोदी गुजरात के मुख्यमंत्री कब बने: नरेंद्र मोदी 7 अक्तूबर 2001 से 22 मई 2014 तक गुजरात राज्य के मुख्यमन्त्री (लगातार  चार बार) रह चुके हैं। वे केशुभाई पटेल के जगह गुजरात के मुख्यमंत्री बने। नरेंद्र मोदी भारतीय जनता पार्टी से संबंध रखते हैं और काफी लंबे समय से RSS से जुड़े हुए हैं। […]

Ranjeet Bhartiya 12/11/2021

सहरिया (Saharia, Sahariya, Sehariya, or Sahar) भारत में पाई जाने वाली एक जाति है. इन्हें रावत, बनरावत, बनरखा और सोरेन के नाम से भी जाना जाता है. यह मुख्य रूप से उत्तर भारत के बुंदेलखंड क्षेत्र में निवास करते हैं. जीवन यापन के लिए यह मुख्य रूप से वनों पर निर्भर हैं. यह विशेषज्ञ लकड़हारे […]

Sarvan Kumar 11/11/2021

निषाद समाज  ऐसे जातियों के समूह को कहते हैं जो नाव चलाने तथा मछली मारने का काम करते हैं। इस समूह के अन्तर्गत कई जातियाँ हैं जैसे निषाद, बिंद, मल्लाह, केवट, कश्यप, भर, धीवर, बाथम, मछुआरा, कहार, धीमर, मांझी और तुरहा। देश की अधिकतर जातियां अपने पुश्तैनी कामों को छोड़ चुकी है, पर जाति व्यवस्था […]

Ranjeet Bhartiya 11/11/2021

कोल भारत में पाई जाने वाली एक जनजाति है. अधिकांश कोल भूमिहीन हैं जो जंगलों में अपना जीवन यापन करते हैं. यह जीविका चलाने के लिए मुख्य रूप से वन उत्पाद और जंगल के संसाधनों पर निर्भर हैं. यह जंगल काट कर लकड़ियों को स्थानीय बाजार और शहरों में पहुंचाने का काम करते थे, जहां […]

Sarvan Kumar 10/11/2021

नरेंद्र मोदी कौन से नंबर के प्रधानमंत्री हैं: नरेंद्र मोदी भारत के 15 में प्रधानमंत्री हैं। नरेंद्र मोदी ने पहली बार 26 May, 2014 को प्रधानमंत्री के रूप में शपथ लिया था, उनका कार्यकाल 26 May, 2014 – 26 May, 2019 तक का था। वे दूसरी बार 26 May, 2019 में प्रधानमंत्री के रूप में […]

Sarvan Kumar 10/11/2021

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की शिक्षा कितनी है: मोदी ने अपनी उच्च माध्यमिक शिक्षा (higher secondary education)1967 में वड़नगर में पूरी की. वड़नगर (Vadnagar) भारत के गुजरात राज्य के महेसाणा ज़िले में स्थित है.1978 में मोदी ने दिल्ली विश्वविद्यालय के स्कूल ऑफ़ ओपन लर्निंग  से राजनीति विज्ञान में कला स्नातक (तीसरी श्रेणी )की उपाधि प्राप्त की. […]

Ranjeet Bhartiya 09/11/2021

मोची दक्षिण एशिया में पाया जाने वाला एक व्यवसायिक जाति समुदाय है. चमड़े के जूते बनाना इनका पारंपरिक कार्य रहा है. ऐतिहासिक रूप से यह समुदाय चमड़े के सुरक्षात्मक शिल्प के निर्माण में शामिल था. सैनिकों के लिए सुरक्षात्मक चमड़े के कपड़े निर्माण में शामिल होने के कारण यह समुदाय सेना के साथ निकटता से […]

Ranjeet Bhartiya 08/11/2021

नट उत्तर भारत में पाया जाने वाला एक जाति समुदाय है. यह परंपरागत रूप से बाजीगरी, कलाबाजी और नाच-गाकर अपना जीवन यापन करते हैं. इन्हें बाजीगर या कलाबाज भी कहा जाता है. शरीर के अंग-प्रत्यंग को लचीला बना कर, अलग-अलग मुद्रा बनाकर, रस्सी पर चलकर और विभिन्न प्रकार के करतब दिखाकर लोगों का मनोरंजन करना […]

Sarvan Kumar 07/11/2021

रौतिया भारत में निवास करने वाली एक जाति है. इन्हें राऊत के नाम से भी जाना जाता है. यह परंपरागत रूप से कृषक रहे हैं और खेती-बाड़ी इनका मुख्य पेशा है. यह आसपास के जंगलों से फल और कंद एकत्रित करते हैं. रोजी-रोटी की तलाश में अब इन्होंने शहरों की ओर रुख करना भी शुरू […]

Ranjeet Bhartiya 07/11/2021

पासी उत्तर भारत में पाई जाने वाली एक जाति है. परंपरागत रूप से यह ताड़ी निकालने और बेचने का काम करते हैं. बता दें कि ताड़ी (Palm wine) एक मादक पेय है जो ताड़ की विभिन्न प्रजाति के वृक्षों के रस से निकाला जाता है. इनका पारंपरिक व्यवसाय सूअर पालना भी था. इन्हें ताड़माली के […]