Sarvan Kumar

Sarvan Kumar 30/01/2018

27337113_551025251921756_4029019827511597299_n

कासगंज हिंसा, जिसमे तिरंगा यात्रा के दौरान एक एक हिन्दू युवक चन्दन गुप्ता की गोली मारकर हत्या कर दी गयी थी, पर हंगामा थमने का नाम नहीं ले रहा. इस घटना ने देश को सकते में डाल दिया है की … पूरा पढ़ें

Sarvan Kumar 28/01/2018

 

पूरा घटनाक्रम-

26 जनवरी के दिन गणतंत्र दिवस के अवसर पर उत्तर प्रदेश के कासगंज में तिरंगा यात्रा निकाला जा रहा था. यात्रा में शामिल लोग भारत माता की जय और वन्दे मातरम के नारे लगाते आगे बढ़ रहे … पूरा पढ़ें

Sarvan Kumar 26/01/2018

फिल्मों को लेकर विवाद कोई नई बात नहीं है

भारत एक विविधताओं से भरा देश है. देश में सभी समुदाय की अपनी-अपनी भावनाएं हैं जो समय समय पर आहात होते रहती हैं. चाहे विश्वरूपम हो ,PK हो , लिस्प्सटिक अंडर … पूरा पढ़ें

Sarvan Kumar 24/01/2018

भारत ने अनेक लोकप्रिय राजनेता देखें हैं जिन्होंने अपने व्यक्तित्व और कार्य से देश की जनता पर अपना प्रभाव छोड़ा है. भारत के अबतक के लोकप्रिय राजनेताओं की सूचि में प्रधानमंत्री मोदी ने काफी कम समय में अपना एक विशिष्ट … पूरा पढ़ें

Sarvan Kumar 22/01/2018

मुसलमानों के प्रति  सरदार वल्लभभाई पटेल की राय को लेकर उनके जीवनकाल से ही सवाल उठते रहे हैं. इस मुद्दे को लेकर राजनीतिक दलों, मीडिया और सोशल मीडिया पर बहस होती रहती है.  सरदार पटेल मुस्लिमों को लेकर क्या सोचते … पूरा पढ़ें

Sarvan Kumar 22/01/2018

इस्राइल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू की 6 दिवसीय भारत की यात्रा पर आये. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने प्रोटोकॉल तोड़कर उनका गर्मजोशी से स्वागत किया.बदलते हुए वैश्विक परिदृश्य को देखते यह यात्रा कोई मायनो में में बहुए महत्वपूर्ण है. सबसे सुखद … पूरा पढ़ें

Sarvan Kumar 20/01/2018

VHP के अंतरराष्ट्रीय कार्यकारी अध्यक्ष प्रवीण भाई तोगड़िया आजकलमीडिया में छाये हुए हैं. आज जो प्रवीण भाई तोगड़िया और प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की कटुता सबके सामने आयी है वो अनायास नहीं हुआ है. यह कटुता . 2002-03 से पैदा हुई … पूरा पढ़ें

Sarvan Kumar 18/01/2018

धीरे-धीरे अब लगने लगा है कि कांग्रेस छाप धर्मनिरपेक्षता (सेक्यूलरिज्म) के बुरे दिन आ गए हैं। कांग्रेस के लिए यह भले ही बुरी खबर होगी, पर भारत के लिए यह बहुत ही शुभ है। यहां यह स्पष्ट कर देना ज़रूरी … पूरा पढ़ें

Sarvan Kumar 17/01/2018

उत्तर प्रदेश और राजस्थान के ग्रामीण इलाकों में रहने वाले दो-तिहाई लोगों के बीच छुआछूत जैसी सामाजिक कुप्रथा बरकरार है.समाज से छुआछूत मिटाने के लिए काफी लंबे वक्त तक जन आंदोलन हुए बावजूद 21वीं सदी के भारत में ये सामाजिक

पूरा पढ़ें