Ranjeet Bhartiya 24/11/2022
Jankaritoday.com अब Google News पर। अपनेे जाति के ताजा अपडेट के लिए Subscribe करेेेेेेेेेेेें।
 

Last Updated on 25/11/2022 by Sarvan Kumar

वैसे तो दबंग शब्द के कई अर्थ हैं लेकिन इसका मूल अर्थ होता है-प्रभावशाली. आम तौर पर, जाति जो परंपरागत रूप से जाति पदानुक्रम में उच्च होती है, समाज में प्रभुत्व की स्थिति रखती है. भारतीय संदर्भ में, ब्राह्मणों और राजपूतों का पारंपरिक रूप से वर्चस्व रहा है. सांस्कृतिक पहचान देने में धर्म एक व्यक्ति के लिए महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है. धार्मिक अनुष्ठानों और त्योहारों में महत्वपूर्ण भूमिका के कारण ब्राह्मणों को सामाजिक पदानुक्रम में सबसे ऊपर माना जाता है. आइए इसी क्रम में जानते हैं भारत की एक दबंग जाति भूमिहार के बारे में.

दबंग का मतलब क्या है?

यहां दो बातें जानना जरूरी है. सबसे पहले ये जानना जरूरी है कि दबंग का मतलब क्या है? और दूसरा, भूमिहार कौन हैं? दबंग शब्द का अर्थ होता है-जो किसी से न दबे, निधड़क, निडर, अक्खड़, रोबीला, रोबदार, और दिलेर. अर्थात, जिसका दबदबा या प्रभाव हो.‌ समाज शास्त्रियों के अनुसार, एक दबंग जाति वह है जो अन्य जातियों पर संख्यात्मक रूप से प्रबल होती है और साथ ही प्रमुख आर्थिक और राजनीतिक शक्ति का भी इस्तेमाल करती है. समाजशास्त्री श्रीनिवास के अनुसार, एक दबंग जाति होने के लिए एक जाति में निम्नलिखित विशेषताएं होनी चाहिए-

•कृषि योग्य भूमि का एक बड़ा हिस्सा होना चाहिए.

• पर्याप्त संख्यात्मक शक्ति होनी चाहिए.

•स्थानीय जाति पदानुक्रम में एक उच्च स्थान होना चाहिए.

•गुणवत्तापूर्ण शिक्षा तक पहुंच होनी चाहिए.

• नौकरियों और प्रशासनिक सेवाओं में पर्याप्त प्रतिनिधित्व होना चाहिए.

• सत्ता के गलियारों तक पहुंच होनी चाहिए, यानी राजनीतिक रसूख होना चाहिए.

भारत की दबंग जाति भूमिहार है ?

यदि हम उपरोक्त कारकों के आधार पर भूमिहार समुदाय का विश्लेषण करें तो हम पाएंगे कि-

• अतीत में इस समुदाय के पास जमींदारी और रियासतें थीं. वर्तमान में भी इनके पास काफी कृषि योग्य जमीन है.

•संख्या बल की बात करें तो बिहार और उत्तर प्रदेश के पूर्वांचल क्षेत्र में इनकी उल्लेखनीय आबादी है.

• इस समुदाय के लोग “अयाचक ब्राह्मण” होने का दावा करते हैं और इस प्रकार सामाजिक पदानुक्रम में एक उच्च स्थान रखते हैं.

•यह एक उच्च शिक्षित समुदाय है. इस जाति में कई प्रसिद्ध लोगों ने जन्म लिया है जिन्होंने विभिन्न क्षेत्रों में बहुमूल्य योगदान दिया है.

•निजी क्षेत्र, सरकारी नौकरियों और प्रशासनिक सेवाओं में समुदाय की मजबूत उपस्थिति है.

भूमिहार राजनीतिक रूप से काफी जागरूक होते हैं. राजनीतिक सूझबूझ, सामाजिक एकजुटता और जमीनी पकड़ के दम पर यह समुदाय हमेशा से बिहार और पूर्वांचल की राजनीति में राजनीतिक रूप से काफी प्रभावी रहा है. समुदाय के कई लोग राज्य सरकारों और केंद्र सरकार में महत्वपूर्ण पदों पर रह चुके हैं.

भारत की एक दबंग जाति निष्कर्ष

प्रभावशाली जाति होने के सभी गुणों से परिपूर्ण होने के कारण भूमिहार निश्चित रूप से भारत की एक दबंग जाति है!


References:

•India, Ideas For. “Caste dominance in rural India: Cause and effect”. Ideas For India.

•Srinivas, M. N. (1959). “The Dominant Caste in Rampura”. American Anthropologist. 61 (1): 1–16. doi:10.1525/aa.1959.61.1.02a00030. JSTOR 666209 – via JSTOR.

•Hasnain, Nadeem (2011). Indian Anthropology. Delhi: Palaka Prakashan. pp. 275–276. ISBN 978-81-85799-62-9.

•https://www.aajtak.in/india-today-plus/rajya/story/why-bhumihar-caste-is-important-in-up-politics-1263370-2021-05-29

•https://theprint.in/politics/from-bochaha-bypoll-to-parshuram-jayanti-bjp-has-a-big-bhumihar-problem-in-bihar/950649/

Advertisement
Shopping With us and Get Heavy Discount Click Here
 
Disclaimer: Is content में दी गई जानकारी Internet sources, Digital News papers, Books और विभिन्न धर्म ग्रंथो के आधार पर ली गई है. Content  को अपने बुद्धी विवेक से समझे। jankaritoday.com, content में लिखी सत्यता को प्रमाणित नही करता। अगर आपको कोई आपत्ति है तो हमें लिखें , ताकि हम सुधार कर सके। हमारा Mail ID है jankaritoday@gmail.com. अगर आपको हमारा कंटेंट पसंद आता है तो कमेंट करें, लाइक करें और शेयर करें। धन्यवाद Read Legal Disclaimer 
 

Leave a Reply