Uncategorized

Ranjeet Bhartiya 15/06/2022

राजावत (Rajawat) कछवाहा वंश की एक उपशाखा है. कछवाहा (Kachhwaha) वंश का संबंध अयोध्या के सूर्यवंशी इक्ष्वाकु (Ikshvaku) वंश से है. रामायण और महाभारत जैसे प्राचीन ग्रंथों में इक्ष्वाकु वंश के प्रसिद्ध शासकों का उल्लेख मिलता है. इस वंश में एक से बढ़कर एक प्रतापी राजाओं ने जन्म लिया, जैसे -परम प्रतापी राजा इक्ष्वाकु, जिनके […]

Ranjeet Bhartiya 22/12/2021

कसाब (Qassab) भारत और पाकिस्तान में पाई जाने वाली एक मुस्लिम जाति है. कभी-कभी अधिकांश कुरेश जाति के सदस्यों को भी कसाब के रूप में जाना जाता है. वर्तमान में, वह कसाब जो मांस काटने और बेचने के व्यवसाय में लगे हुए हैं, उन्हें कुरेशी के नाम से जाना जाता है.परंपरागत रूप से यह समुदाय […]

Ranjeet Bhartiya 17/12/2021

अरोड़ा (Arora) भारतीय उपमहाद्वीप के सिंध और पंजाब क्षेत्र में पाया जाने वाला एक इंडो आर्यन समुदाय है. इन्हें क्षत्रिय या वैश्य वर्ण का माना जाता है. सामाजिक, शैक्षणिक और आर्थिक रूप से यह एक अगड़ी जाति है. सरकारी और निजी क्षेत्रों में इनका अच्छा प्रतिनिधित्व है. वर्तमान में यह आर्थिक रूप से संपन्न हैं […]

Ranjeet Bhartiya 21/11/2021

मल पहाड़िया (Mal Paharia) भारत में पाया जाने वाला एक आदिवासी जनजातीय समुदाय है. यह राजमहल पहाड़ियों के मूल निवासी हैं, जिसे आज झारखंड में संथाल परगना डिवीजन के रूप में जाना जाता है. जीवन निर्वाह के लिए यह मुख्य रूप से कृषि, वन उत्पादों, पशुपालन और मजदूरी पर निर्भर है. यह वन उत्पादों जैसे […]

Sarvan Kumar 07/11/2021

रौतिया भारत में निवास करने वाली एक जाति है. इन्हें राऊत के नाम से भी जाना जाता है. यह परंपरागत रूप से कृषक रहे हैं और खेती-बाड़ी इनका मुख्य पेशा है. यह आसपास के जंगलों से फल और कंद एकत्रित करते हैं. रोजी-रोटी की तलाश में अब इन्होंने शहरों की ओर रुख करना भी शुरू […]