Religion

Pinki Bharti 21/03/2019

होली क्यों मनाया जाता है इसके पीछे कई कारण है. होली हिंदुओं के लिए काफी प्राचीन त्यौहार है. इसका उल्लेख पुराणों में मिलता है. प्राचीन राजे, महाराजाओं के पेंटिंग में भी ये दिखाई देता है. होली के कई नाम है जैसे लठमार होली, बसंत उत्सव, रंग पंचमी फगुआ धुलेंडी व धुरड्डी इत्यादि. इसे रंगों का […]

Sarvan Kumar 18/11/2018

सामा -चकेवा त्यौहार। उत्तर भारतीय और खासकर बिहार के लोगोंं  के लिए कार्तिक (नवंबर) का महीना ढेर सारी खुशियां लेकर आता है.पहले दिवाली, फिर छठ पूजा और फिर मैथिल भाषी लोगों का अनोखा पर्व सामा चकेवा। कार्तिक महीने में यहां के लोगों का जीवन आनंदमय हो जाता है। भाई- बहन के बीच घनिष्ठ प्रेम को दर्शाता है […]

Sarvan Kumar 16/11/2018

छठ पूजा: साल का कार्तिक महीना ,यह वह महीना है जब मनाया जाता है हिंदुओं के आस्था का महापर्व छठ पूजा। 4 दिन की दिवाली से सजे शहर और गांव स्वागत करता है एक महापर्व की जो पूरे 4 दिन तक मनाया जाता है। जिंदगी जैसे थम सी जाती है।1 साल के बच्चे से लेकर […]

Sarvan Kumar 08/11/2018

आखिर कब से मनाई जाती है दिवाली? हर साल हिंदू दीयों का त्यौहार बड़ी धूमधाम से मनाते हैं। हम सभी यह जानते हैं कि दिवाली क्यों मनाई जाती है।भगवान राम जब रावण का वध करके अपने राज्य लौटे थे तो उनके स्वागत में पूरे अयोध्या नगरी को दीपों से सजाया गया था । तभी से […]

Ranjeet Bhartiya 04/10/2018

धर्म क्या है,इसको इस कहानी से समझने का प्रयास करते  है : काफी समय पहले की बात है. एक गांव में 6 अन्धे रहते थे.एक दिन उनके गांव में एक हाथी आया. हाथी बहुत विशाल था.उसके चार भारी स्तंभ जैसे बड़े पैर, एक मोटी और काफी लम्बी सुंड, दो लंबे दांत , सूप जैसे कान, […]

Sarvan Kumar 13/09/2018

हिन्दू कौन है? सनातन धर्म सभा में लोकमान्य बाल गंगाधर तिलक ने कहा था- हिन्दू वो है जो यह माने की स्वत:स्पष्ट और स्वयंसिद्ध सत्य वेदों में है.हिन्दू पूरी दुनिया में फैले हुये है. हमारे मन में हमशा ये सवाल उठता है आखिर हिन्दू कहते किसको है. असली हिन्दू कौन है 1.जो वेदों में दिए गए […]

Sarvan Kumar 03/09/2018

हिन्दू धर्म विश्व का प्राचीनतम धर्म है. इस धर्म को सनातन धर्म या वैदिक धर्म भी कहा जाता है.हिन्दू धर्म का कोई कोई संस्थापक नहीं है. सनातन’ का मतलब होता है- शाश्वत (Eternal) या ‘हमेशा बना रहने वाला’,कभी नहीं नष्ट होने वाला, जिसका ना आदि है ना अन्त है. हिन्दू धर्म ही केवल एक ऐसा […]

Sarvan Kumar 02/09/2018

51 साल की उम्र में शनिवार 1 सितम्बर , जैन मुनि तरुण सागर का निधन हो गया. 20 दिन पहले उन्हें पीलिया की शिकायत के बाद अस्पताल में भर्ती कराया गया था लेकिन उनकी स्थिति में सुधार नहीं हुआ. तरुण सागर का संक्षिप्त जीवन परिचय जैन मुनि तरुण सागर एक दिगंबर जैन साधु थें. मुनि तरुण […]

Sarvan Kumar 01/09/2018

पाकिस्तान, मुसलमान, लव जिहाद , शाकाहार और पंडितों पर जैन मुनि तरुण सागरजी “कड़वे विचार” मुनि तरुण सागर के प्रवचन 1. पाकिस्तान के बारे में  तरुण सागर  जी ने कहा वो शैतान है, कुत्ते की पूंछ है जो सीधा नहीं हो सकता. उसे उसी की भाषा में जबाब देना चाहिए. 2. मुसलमानों की बढ़ती आबादी […]

Sarvan Kumar 21/08/2018

कुशवाहा मुख्य रूप से हिन्दू बृहद समुदाय का हिस्सा हैं जिसका अतीत स्वर्णिम और इतिहास काफी गौरवशाली रहा है. अपने गौरवशाली इतिहास को भूल जाने कारण कुशवाहा समाज को कई तरह की कठिनाइयों का सामना करना पड़ रहा है. लेकिन कुशवाहा समाज अब अपनी पहचान वापस पाने के लिए, विकास की मुख्यधारा में आने के […]